Rajiv Gandhi 75th Birth Anniversary Whatsapp Status : राजीव गांधी के जीवन से जुड़ी खास बातें

0

आज पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 75वीं जयंती (Rajiv Gandhi 75th Birth Anniversary) है। इस मौके पर पूरा देश उन्हें याद कर रहा है। आज यानि मंगलवार सुबह से ही उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए कांग्रेस नेताओं सहित कई लोग उनकी समाधि वीर भूमि पहुँच रहे हैं। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा सहित कई नेता श्रद्धांजलि दे चुके हैं। वहीं कई बड़े नेताओं ने सोशल मीडिया के जरिये उन्हें याद किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर दी श्रद्धांजलि –

राहुल गांधी ने भी किया ट्वीट –

वहीं कांग्रेस पार्टी 22 अगस्त को दिल्ली के इंदिरा गांधी इनडोर स्टेडियम में भी एक भव्य कार्यक्रम आयोजित करने जा रही है जिसमें पार्टी के राष्ट्रीय, प्रादेशिक और जिला स्तर के पदाधिकारी शिरकत करेंगे।  जिनमें बतौर प्रधानमंत्री राजीव गांधी उपलब्धियों और योगदान को याद किया जाएगा।

आज राजीव  गांधी की 75वीं जयंती के मौके पर जानते हैं उनके बारें मेन कुछ खास बातें –

# राजीव गांधी आज़ाद भारत के सबसे कम उम्र के प्रधानमंत्री बने थे। वे केवल 40 साल की उम्र में प्रधानमंत्री बने।

# राजीव गांधी ने सिविल एविएशन की ट्रेनिंग एक फ्लाइंग क्लब के मैंबर के रूप में ली थी।

कराची से आए दूल्हे का छलका दर्द, कहा भारत में रहना चाहते हैं

# इटली के मध्यम परिवार से ताल्लुक रखने वाली एल्बिना माइनो उर्फ सोनिया गांधी से उन्होंने शादी की थी।

 

# उन्होंने 1970 में एक पायलट के रूप में एयर इंडिया ज्वाइन किया। 1980 में राजनीति में आने से पहले तक वे एयर इंडिया में काम करते रहे।

# राजीव गांधी सरकार के दौरान देशभर में डिजीटाइजेशन और कंप्यूटराइजेशन पर विशेष ध्यान दिया गया।

# 1981 में उन्हें कांग्रेस पार्टी का यूथ विंग के प्रेसिडेंट नियुक्त किया गया।

# राजीव गांधी के नेतृत्व में 408 सीटों के बहुमत के साथ कांग्रेस पार्टी  ने केंद्र में सरकार बनाई थी।

# देश में बिजली, तकनीक और कंप्यूटर सेवा बहाल करने पर उनका हमेशा से जोर था। भारत में कम्प्यूटर युग की शुरुआत राजीव गांधी के कारण ही मानी जाती है।

अब भारत और श्रीलंका के बीच युद्ध!

# वर्ष 1987 में भी श्रीलंका में राजीव गांधी पर हमला किया गया था। यह हमला श्रीलंकाई नौसेना के जवान विजीता रोहाना विजेमुनी ने राइफल की बट से उस वक्‍त किया था जब श्रीलंका में शांति सेना भेजने के बाद राजीव गांधी वहां के दौरे पर गए थे।

# 21 मई 1991 को विशाखापट्टनम से चुनावी अभियान को पूरा करने के बाद श्रीपेरुंबदूर में वे पैदल एक कार्यक्रम में पहुंचे थे, जहां पर एलटीटीई ने उनकी हत्या कर दी थी।

मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री कमलनाथ का भांजा रतुल पुरी गिरफ्तार

 

 

Share.