दलितों के लिए राजघाट पर बैठे राहुल

0

कर्नाटक चुनाव और अगले साल होने वाले आम चुनाव से पहले कांग्रेस और  भाजपा अब एक-दूसरे के आमने-सामने आ गई है। अब भाजपा और कांग्रेस दोनों दलों के नेता दलित मुद्दे पर उपवास की राजनीति पर उतारू हो गए हैं| सोमवार को इस राजनीति की बानगी तब नज़र आई, जब कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी दलितों के लिए राजघाट पर उपवास पर बैठ गए| इससे पहले भाजपा ने 12 अप्रैल को अपने सांसदों से उपवास रखने को कहा था, वहीं कांग्रेस ने आज ही देशव्यापी उपवास का कार्यक्रम रखा है।

दलितों के मुद्दे पर देशव्यापी उपवास के कार्यक्रम को लेकर भाजपा ने राहुल गांधी और कांग्रेस पर निशाना भी साधा है| राहुल गांधी के उपवास पर भाजपा ने एक वीडियो बनाया है, जिसमें भाजपा कह रही है कि राहुल उपवास करें लेकिन झूठ न फैलाएं।

इस उपवास के पीछे की वजह सांप्रदायिक सौहार्द के बिगड़ते माहौल और दलितों के खिलाफ हो रहे अत्याचार को बताया गया है। कांग्रेस के नए संगठन महासचिव अशोक गहलोत की तरफ से पार्टी के सभी प्रदेश अध्यक्षों, एआईसीसी महासचिवों, प्रभारियों और विधायक दल के नेताओं के भेजे गए दिशा निर्देश में कहा गया है कि सांप्रदायिक सौहार्द को बचाने और बढ़ाने के लिए सभी राज्यों और जिलों के कांग्रेस मुख्यालयों में उपवास रखें|

Share.