Article 370 पर राहुल गांधी ने चुप्‍पी तोड़ी, कहा…

0

जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) से आर्टिकल 370 (Article 370) का सफाया हो गया है। इसके बाद मोदी सरकार के विरोधी कई नेताओं ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पिछले काफी समय से चुप्पी साधे बैठे राहुल गांधी ने अब इस मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ी है। । राज्यसभा ने कल अनुच्छेद-370 की अधिकतर धाराओं को खत्म कर जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख को दो केंद्र शासित क्षेत्र बनाने संबंधी सरकार के दो संकल्पों को मंजूरी दे दी थी। इसके बाद आज लोकसभा मे भी यह बिल आसानी से पास हो गया। इस मामले पर काफी बहस चली।

अनुच्छेद 370 पर आया मायावती का बड़ा बयान

 लोकसभा मे बिल को पेश करने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) , केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) , भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा (Bharatiya Janata Party Executive Chairman JP Nadda) , संसदीय मामलों के मंत्री प्रह्लाद जोशी (Prahlad Joshi) और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) और नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने संसद में बैठक की। अब इस मामले पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का बयान सामने आया है।

आखिर क्यों कश्मीर में हाई अलर्ट पर है सेना

राष्‍ट्रीय सुरक्षा को खतरा

राहुल गांधी ने कहा कि कभी भी राष्‍ट्रीय एकीकरण एकतरफा कार्रवाई के जरिए जम्मू-कश्मीर को तोड़कर, चुने हुए प्रतिनिधियों को कैद करके और संविधान का उल्लंघन करके नहीं किया गया है। यह देश अपने लोगों द्वारा बनाया गया है, न कि भूमि के टुकड़ों के द्वारा… विधायी शक्ति का इस तरह के दुरुपयोग से राष्‍ट्रीय सुरक्षा को खतरा पैदा हो गया है। देश लोगों से बनता है जमीन के टुकड़े से नहीं…

वहीं लोकसभा मे बिल पेश करते समय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि भारत के राष्ट्रपति की घोषणा है कि उनके आदेश के बाद अनुच्छेद-370 के सभी प्रावधान जम्मू-कश्मीर में लागू नहीं होंगे। राज्यसभा के बाद इस विधेयक को यहां लाया गया है। जम्‍मू-कश्‍मीर का मसला राजनीतिक नहीं है। यह कानूनी विषय है। भारत के संविधान में बहुत साफ है कि जम्‍मू-कश्‍मीर भारत का अभिन्न अंग है। जम्मू कश्मीर में संविधान के अनुच्‍छेद-1 के सारे अनुच्छेद लागू हैं।

तीन तलाक, आर्टिकल 370 के बाद आरक्षण ख़त्म!

 

Share.