Rahul Gandhi Resigned As Congress President : राहुल गांधी नहीं रहे कांग्रेस अध्यक्ष, नाम से हटाया

0

कांग्रेस अध्यक्ष (President of Congress) राहुल गाँधी (Rahul Gandhi Resigned As Congress President) के इस्तीफे को लेकर पिछले काफी समय से पार्टी में बवाल चल रहा है। कई कार्यकर्ता उन्हें मनाने के लिए अनशन पर बैठे हैं और कई अपने खून से लिखकर उन्हें पत्र भी भेज चुके हैं। सभी की बस यही मांग है कि राहुल गांधी अपने अध्यक्ष पद को नहीं त्यागे। अब राहुल गांधी ने इस संबंध में बड़ा खुलासा किया है। उनका कहना है कि मैं पहले ही इस्तीफा दे चुका हूं (Rahul Gandhi Resigned As Congress President) । अब मैं अध्यक्ष नहीं है। जब उनसे पूछा गया कि अगला अध्यक्ष कौन होगा, तो उन्होंने कहा कि ये CWC तय करेगी।

राहुल गाँधी ने आज एक ट्वीट भी किया है।  जिसमें उन्होंने चार पेज की एक चिट्ठी ट्वीट की है।  जिसमे उन्होंने लिखा है कि कांग्रेस की हार के लिए मैं जिम्मेदार हूँ।  पार्टी के भविष्य के लिए जिम्मेदारी जरुरी है।

इसके साथ ही उन्होंने अपने ऑफिशियल  ट्विटर अकाउंट से भी कांग्रेस अध्यक्ष हटाकर सांसद लिख लिया।

 

 

अब 24 लाख रुपए देगी मोदी सरकार!

जल्द से जल्द हो चुनाव

आज यानी बुधवार को राहुल गांधी ने कहा कि पार्टी में जल्द से जल्द अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होना चाहिए, वह अब इस पद पर नहीं हैं। उनका कहना है कि पार्टी का नया अध्यक्ष एक महीने पहले ही चुना जाना चाहिए था, लेकिन इसमें देरी की जा रही है। उन्होंने आगे कहा कि वह किसी भी कीमत पर इस्तीफा वापस लेने के मूड में नहीं हैं। 23 मई को चुनाव नतीजे आने के बाद यानी भाजपा से करारी हार मिलने के बाद राहुल गांधी ने कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में इस्तीफे की पेशकश कर दी थी, लेकिन तब से ही उनका इस्तीफा कांग्रेस वर्किंग कमिटी द्वारा रिजेक्ट किया जा रहा है।

Lokayukta Raid : सोने-चांदी के बर्तनों में खाना खाता है सिंचाई विभाग का इंजीनियर

राहुल गाँधी ने यह भी कहा कि वे नए अध्यक्ष चुनने की प्रक्रिया में हिस्सेदार नहीं बनेंगे। वर्किंग कमेटी की बैठक कब बुलाई जाएगी, ये भी समिति के सदस्य ही तय करेंगे। मैं बैठक नहीं बुलाउंगा। राहुल गाँधी इस बात से भी नाराज है कि लोकसभा चुनाव में हार के बाद किसी भी नेता ने इसकी जिम्मेदारी नहीं ली और ना ही उनकी पेशकश के बाद किसी ने इस्तीफा दिया। जिसके बाद पार्टी में सैकड़ों नेताओं ने अपना पद त्याग दिया था। कांग्रेस शासित प्रदेश के मुख्यमंत्रियों ने भी राहुल गांधी से मिलकर इस्तीफा देने की पेशकश की थी, लेकिन राहुल गांधी हर बार सिर्फ एक ही जवाब दे रहे हैं। वे अपना फैसला नहीं बदलना चाहते हैं।

नई सरकार हर परिवार के व्यक्ति को दे रही सरकारी नौकरी

Share.