RSS Defamation Case : मानहानि केस में राहुल गाँधी को मिली…

0

कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके राहुल गांधी (Rahul Gandhi) गुरूवार को मुंबई पहुंचे और आरएसएस (Rashtriya Swayamsevak Sangh) मानहानि मामले में अदालत के सामने पेश हुए। इस मामले में सुनवाई के दौरान होने उन्होंने कहा कि मैं मामले में दोषी नहीं हूं, बेकसूर हूं। मुझे फंसाया जा रहा है। इतना कहने के बाद वे चुप हो गए। यह सुनने के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया। पत्रकार गौरी लंकेश (Gauri Lankesh) हत्याकांड में विवादित बयानबाजी में फंसे राहुल गांधी की अदालत में पेशी थी। केस के संबंध में पेशी के लिए माकपा नेता सीताराम येचुरी (Sitaram Yechury) भी कोर्ट पहुंचे थे।

मोदी की फटकार के बाद भी बिगड़ैल विधायक को पार्टी से नहीं निकाला : मायावती

मैं बेकसूर हूं

राहुल गांधी के इतना कहने के बाद कि मैं बेकसूर हूं कोर्ट ने उन्‍हें 15 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत दे दी। कांग्रेस नेता एकनाथ गायकवाड़ ने उनका मुचलका भरा। राहुल गांधी ने आरएसएस के खिलाफ विवादित टिप्पणी की थी, जिसके कारण उन्हें कोर्ट में पेश होना पड़ा। उन्होंने पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के पीछे आरएसएस का हाथ बताया था। आरएसएस के स्वयंसेवक और पेशे से वकील धृतमान जोशी ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ मुंबई की शिवड़ी कोर्ट में केस फाइल किया था।

भारत से गोमांस का व्यापार बंद!

अदालत में पिछली सुनवाई के दौरान राहुल गांधी के वकीलों ने कोर्ट को बताया था कि लोकसभा चुनाव के प्रचार में व्यस्त होने की वजह से राहुल गांधी कोर्ट में नही आ पाए।  कोर्ट ने राहुल को अदालत में पेश होने का आदेश दिया था। इसीलिए आज वे कोर्ट में पेश हुए। जहाँ एक ओर पार्टी के सदस्य इस्तीफा दे रहे हैं वहीँ इस महीने राहुल गाँधी लगभग मंच मामलों में कोर्ट के सामने पेश होने वाले हैं, जिससे उनकी परेशानी और बढ़ सकती है। गौरी लंकेश हत्याकांड मामले पर आरएसएस पर बयानबाजी राहुल गांधी के गले की फांस बनी है जिसमें उनकी शिवड़ी कोर्ट में पहली बार हाजिरी हो रही है। राहुल गांधी पर मुंबई से सटे भिवंडी कोर्ट में पहले से ही एक केस दायर है।

सितंबर, 2017 में बेंगलुरु में पत्रकार गौरी लंकेश की उन्हीं के घर के बाहर कथित तौर पर दक्षिणपंथी विचारधारा वाले समूह के सदस्यों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद वकील जोशी ने 2017 में ही राहुल गांधी, तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, माकपा और उसके महासचिव सीताराम येचुरी के खिलाफ एक शिकायत दर्ज कराई थी।

गांधीजी की तस्वीर शराब की बोतल पर, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बवाल

Share.