Video : शादनगर थाने को पब्लिक ने घेरा, आरोपियों को भीड़ के सामने फांसी की मांग

0

हैदराबाद में एक पशु चिकित्सक प्रियंका रेड्डी (Priyanka Reddy) के साथ गैंगरेप कर उसे जिंदा आग के हवाले कर दिया गया। इस बेहद ही दर्दनाक और खौफनाक घटना से पूरे देश एक बार फिर सिहर उठा। निर्भया से हुई बर्बरता के बाद अब प्रियंका रेड्डी के साथ हुए इस भयावह कृत्य के बाद देश एक बार फिर से उबल पड़ा है। देश भर में बेहद आक्रोश है और लोग प्रियंका को न्याय दिलाने के लिए एक बार फिर से सड़कों पर उतर आए। मामला सामने आने के बाद से ही लोग सोशल मीडिया पर प्रियंका के दोषियों को फांसी देने की मांग कर रहे हैं। गौरतलब है कि इस मामले में चार आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। चारों आरोपियों की पहचान भी की जा चुकी है। हैदराबाद पुलिस ने चारों आरोपियों को शादनगर थाने में रखा हुआ है।

शादनगर थाने को शनिवार सुबह लोगों ने घेर लिया और थाने पर चप्पलें फेंकी। जन आक्रोश को देखते हुए पुलिस को थाने व आरोपियों की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त पुलिस फोर्स बुलानी पड़ी। गुस्साई भीड़ पर नियंत्रण करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया लेकिन लोगों के गुस्से के सामने पुलिस का लाठीचार्ज भी फीका पड़ गया। लाठीचार्ज के बावजूद भी लोग थाने के सामने से नहीं हिले और “we want justice” के नारे लगाते रहे।

शादनगर थाने के सामने महिलाओं और छात्राओं के दल एकत्रित हो गए। बता दें कि लोग शुक्रवार सुबह से ही थाने के सामने प्रदर्शन कर रहे हैं और चारों आरोपियों को भीड़ के सामने ही फांसी पर चढ़ाए जाने की मांग कर रहे हैं। भीड़ आरोपियों को बिना किसी जांच-पड़ताल के सीधे मौत की सजा देने की मांग कर रही है।

गौरतलब है कि चारों आरोपियों को शनिवार को महबूबनगर की फास्ट ट्रैक कोर्ट में पेश किया जाना था, लेकिन भीड़ इस कदर गुस्से में है कि शादनगर पुलिस आरोपियों को थाने से बाहर तक नहीं ला सकी। आखिरकार मजिस्ट्रेट को ही थाने में बुलाना पड़ा। मजिस्ट्रेट के सामने थाने में ही आरोपियों के बयान दर्ज किए गए। इससे पहले पुलिस ने पीछे के दरवाजे से डॉक्टर्स की टीम को थाने के अंदर बुलाया और चारों आरोपियों का मेडिकल करवाया। फ़िलहाल 14 दिनों के लिए चारों आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। पुलिस अब पब्लिक का गुस्सा शांत होने का इंतजार कर रही है ताकि चारों आरोपियों को महबूबनगर जेल में शिफ्ट किया जा सके।

Prabhat Jain

Share.