20 साल में बनाई करोड़ों की प्रॉपर्टी

0

मध्यप्रदेश के इंदौर में आध्यात्मिक गुरु भय्यू महाराज ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी| संत होते हुए भी महाराज हाईप्रोफाइल लाइफ जीते थे इसीलिए उन्हें मॉडल संत कहा जाता था| उनके पास कई बंगलों, महंगी गाड़ियों और घड़ियों सहित वह हर एक वस्तु थी, जो विलासितापूर्ण जीवन जीने के लिए ज़रूरी होती है|

भय्यू महाराज के जानकारों के अनुसार, उनके पास लगभग एक हज़ार करोड़ की सम्पत्ति है|  उनके आश्रम, अन्य प्रॉपर्टी और आलीशान घरों की एक लंबी फेहरिस्त है| आइए जानते हैं महाराज की संपत्तियों के बारे में –

शुजालपुर के जमींदार परिवार में जन्मे भय्यू महाराज के ‘श्री सद्गुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट’ नाम से देशभर में कई आश्रम हैं| इनकी सबसे अधिक संख्या महाराष्ट्र में है|  महाराज के इंदौर में सुखलिया क्षेत्र में सूर्योदय आश्रम के अलावा दो आलीशान घर हैं| महाराज के ट्रस्ट की संपत्ति पर नजर डालें तो उनका इंदौर के स्कीम नंबर 74 में तीन मंजिला बंगला ‘शिवनेरी’ और सिल्वर स्प्रिंग टाउनशिप में एक आलीशान बंगला है | इसके अलावा स्कीम 114 में बेशकीमती प्लॉट,  महाराष्ट्र के खामगांव में महासिद्धपीठ ऋषि संकुल,  अकोला (महाराष्ट्र) में विश्वनाथ शांति प्रसार केंद्र, सांगोला में आश्रमशाला, मुर्टा में आश्रमशाला|  उस्मानाबाद (महाराष्ट्र) के तुलजापुर में सूर्य मंदिर साधना केंद्र, मध्यप्रदेश के धार जिले में सूर्योदय धरतीपुत्र ज्ञान प्रबोधिनी विद्यालय तथा पारदी समाज की आदिवासी आश्रमशाला भी शामिल है|

महाराज को लग्ज़री गाड़ियों और स्विस घड़ियों का शौक था –

लग्ज़री गाड़ियों और स्विस घड़ियों का महाराज को बहुत शौक था|  भय्यू महाराज के पास 10 से ज्यादा लग्ज़री गाड़ियां थीं और सभी गाड़ियां सफेद रंग की थीं | वे रोलेक्स ब्रांड की घड़ी पहनते थे|

भय्यू महाराज ने अपनी करोड़ों की संपत्ति छोड़कर आत्महत्या कर ली| पुलिस ने महाराज द्वारा लिखे सुसाइड नोट बरामद किए, जिनमें भय्यू महाराज ने अपना सारा दायित्व सेवादार विनायक को सौंप दिया| महाराज के इस ख़त के बाद से परिवार वाले हैरान हैं| फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है|

Share.