अगर ट्रेनें देरी से चली तो रुकेगा अधिकारियों का प्रमोशन

0

भारतीय नागरिक जिन दैनिक समस्याओं से सर्वाधिक परेशान रहते हैं, उनमें से एक है रेल का समय पर संचालित नहीं होना परंतु अब रेलमंत्री पीयूष गोयल ने एक नया फरमान जारी किया है, जिसके अनुसार अब रेल लेट होने का हर्जाना रेलवे अधिकारियों को भरना पड़ेगा|

रेल मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक़, पिछले सप्ताह एक आंतरिक बैठक के दौरान गोयल ने क्षेत्रीय महाप्रबंधकों को फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि गाड़ियों की लेटलतीफी के पीछे मेंटेनेंस कार्यों का बहाना अब नहीं चलेगा। उन्होंने महाप्रबंधकों को 30 जून तक व्यवस्था सुधारने की सख्त चेतावनी दी है| गोयल ने कहा कि यदि इसके बाद भी ट्रेनें लेट होती हैं तो रेलवे अधिकारियों का प्रमोशन रुक जाएगा| वे इस बात से ज्यादा नाराज़ थे कि छुट्टियों के समय में गाड़ियां देरी से चल रही हैं, जबकि लोग सबसे ज्यादा इसी समय यात्रा करते हैं।

गौरतलब है कि वर्तमान में  30 फीसदी ट्रेनें निर्धारित समय से विलंब से चल रही हैं तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी पिछले माह प्रगति बैठक के दौरान गोयल से ट्रेनों के लेट होने का कारण जानना चाहा था, जिसके बाद रेलमंत्री ने रेलवे के महाप्रबंधकों और क्षेत्रीय प्रबंधकों को फटकार लगाई है|

Share.