website counter widget

Live Updates : प्रदेश में BJP बनाएगी स्थिर सरकार – राणे

0

राष्ट्रपति शासन दुर्भाग्यपूर्ण

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने आज कोर कमेटी की बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू होना दुर्भाग्यपूर्ण है, लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि राज्य में जल्द ही भाजपा स्थिर सरकार बनाएगी।

भाजपा की प्रेस कॉन्फ्रेंस

भारतीय जनता की कोर कमेटी की बैठक के बाद भाजपा नेता नारायण राणे आखिर मीडिया के सामने आए और जानकारी दी कि भाजपा भी अभी इस खेल से बाहर नहीं हुई है। भारतीय जनता पार्टी अभी भी मैदान में है। राणे ने कहा कि भाजपा हर एक गतिविधि पर अपनी नज़र रखे हुए हैं। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश में स्थिर सरकार बनाने की पूरी कोशिश में लगी हुई है। वहीं उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस इसके लिए पूरा प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने मीडिया के सामने यह भी कहा कि जल्द ही प्रदेश में भाजपा एक स्थिर सरकार का गठन करेगी। उन्होंने कहा कि NCP और Congress मिलकर शिवसेना को उल्लू बना रही हैं। गौरतलब है कि इससे पहले शरद पंवार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि वे दोबारा चुनाव नहीं चाहते। उन्होंने कहा था कि वे कांग्रेस और शिवसेना से बात कर रहे हैं और जल्दी इस पर कोई फैसला लिया जाएगा।

NCP ने शिवसेना के सामने रखी शर्त – सूत्र

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू हो जाने के बाद अब किसी भी दल के पास समय की कोई पावंदी नहीं है। ऐसे में आपसी सहमति के साथ प्रदेश में एक स्थिर सरकार का गठन किया जा सकता है। हालांकि सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार NCP ने शिवसेना के सामने वही शर्त रखी है जो शिवसेना ने पूर्व में BJP के सामने रखी थी। मतलब NCP राज्य में ढाई साल का मुख्यमंत्री पद चाहती है। अब देखना है कि क्या शिवसेना NCP की यह शर्त स्वीकार करती है या नहीं। अगर तीनों दलों की आपसी सहमति बन जाती है तो NCP, Congress और शिवसेना मिलकर प्रदेश में गठबंधन सरकार बना सकते हैं।

NCP-Congress की बैठक

आज शाम लगभग 8 बजे NCP और कांग्रेस के नेताओं की बैठक होगी। लेकिन राज्य में तीसरी बार लागू हुए राष्ट्रपति शासन के बाद अब इस बैठक का क्या निष्कर्ष निकलता है यह देखने वाली बात होगी। फिलहाल शिवसेना ने भी राज्यपाल के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। शिवसेना की याचिका पर कल सुनवाई की जाएगी।

राष्ट्रपति शासन लागू

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन की मंजूरी दे दी है। अब महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया है। राष्ट्रपति शासन के लागू हो जाने से अब 6 माह बाद महाराष्ट्र में फिर से चुनाव होंगे। महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari) ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू किए जाने की सिफारिश की थी। इस सिफारिश को पहले कैबिनेट द्वारा मंजूरी दी गई थी। अब महामहिम रामनाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) ने भी इस सिफारिश को अपनी मंजूरी दे दी है।

शिवसेना पहुंची सुप्रीम कोर्ट

हालांकि राज्यपाल की इस सिफारिश के खिलाफ शिवसेना (Shiv Sena) ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का दरवाजा खटखटाया है। शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट से इस याचिका पर आज ही सुनवाई किए जान की मांग भी की थी। सुप्रीम कोर्ट ने शिवसेना की याचिका पर आज सुनवाई करने से इंकार कर दिया है। शिवसेना ने अपनी याचिका में कहा था कि राज्यपाल समय से पूर्व ही राज्य में राष्ट्रपति शासन की सिफारिश कैसे कर सकते हैं? अब शिवसेना की इस याचिका पर कल सुनवाई की जाएगी। वहीं मुंबई में NCP नेता शरद पवार (Sharad Pawar) से मुलाक़ात करने कांग्रेस नेता पहुंच चुके हैं।

Prabhat Jain

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.