रेप के दोषियों को नहीं मिलेगी दया : राष्‍ट्रपति

0

दिल्ली : देश में हर एक घंटे में दुष्कर्म के नए मामले सामने आ रहे हैं । अब इन मामलों पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द का बयान (President Ram Nath Kovind statement) सामने आया है। राष्ट्रपति (President Kovind statement) ने कहा है कि ऐसे लोगों के लिए दया याचिका का प्रावधान नहीं होना चाहिए। इसे लेकर जल्द ही कानून बनाने के भी आदेश दिये जा सकते हैं। पोक्सो कानून के अधीन आने वाली घटनाओं में अभियुक्तों को दया के अधिकार से वंचित किया जाना चाहिए।

साक्षी महाराज ने किया कुलदीप सिंह सेंगर को बर्थडे विश, मचा बवाल

माउंट आबू में ब्रह्मकुमारी (Brahmakumari at Mount Abu) के मुख्यालय में सामाजिक परिवर्तन के लिए महिला सशक्तिकरण पर राष्ट्रीय सम्मेलन के उद्घाटन के दौरान राष्ट्रपति ने कहा कि इस तरह के जो अभियुक्त होते हैं उन्हें संविधान में दया याचिका अधिकार दिया गया है और मैंने कहा है कि इस पर आप पुनर्विचार करिए। पोक्सो एक्ट के तहत आने वाली घटनाओं में उनको (अभियुक्तों को) दया याचिका के अधिकार से वंचित कर दिया जाए।  उन्हें इस प्रकार के किसी भी अधिकार की जरूरत नहीं है। इस बारे में कोई कदम संसद को उठाना है। अब यह सब हमारी संसद पर निर्भर करता है। उसमें एक संविधान है और उसमें संशोधन, लेकिन उस दिशा में हम सब की सोच एक साथ आगे बढ रही है।

उन्नाव रेप पीड़िता जब तक होश में रही बिलख कर कहती रही…

राष्ट्रपति ने आगे कहा कि महिला सुरक्षा एक बहुत ही गंभीर विषय है। इस विषय पर बहुत काम हुआ है, लेकिन अभी बहुत कुछ करना बाकी है। बेटियों पर होने वाले आसुरी प्रहारों की वारदातें देश की अंतरात्मा को झकझोर कर रख देती हैं। लड़कों में ‘महिलाओं के प्रति सम्मान’ की भावना मजबूत बनाने की ज़िम्मेदारी हर माता-पिता की है।

Hyderabad Police Press Conference : कमिश्नर सज्जनार ने बताई एनकाउंटर की सच्चाई

              – Ranjita Pathare 

Share.