दिल्ली में पुलिसकर्मी ही तोड़ रहे CCTV कैमरे, Video Viral

0

दिल्ली में लगातार हो रही हिंसा (Delhi violence) के बीच गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah), प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Chief Minister Arvind Kejriwal) लोगों से शांति बनाए रखने के लिए अपील कर रहे हैं। लेकिन इस बीच दिल्ली पुलिस (Policeman Breaking CCTV Camera) का एक और वीडियो सामने आया है, जिसमें पुलिसकर्मी सरकारी संपत्ति को ही नुकसान (Damage to government property) पहुंचा रहे हैं। यह वीडियो दिल्ली के खुरेजी क्षेत्र का बताया जा रहा है। इसमें साफ तौर पर आप देख सकते हैं कि किस तरह से पुलिसकर्मी सड़क किनारे खंबो पर लगे सीसीटीवी कैमरों को तोड़ रहे (Break CCTV cameras) हैं। यह वीडियो सिद्धार्थ सेठिया (Siddharth Sethia) ने ट्वीट किया है। जिसे पत्रकार अभिसार शर्मा (Abhisar Sharma) ने रिट्वीट किया है। इस वीडियो को अब तक 1 हज़ार से ज्यादा लोग रिट्वीट कर चुके हैं।

Delhi Violence : राजधानी में अर्धसैनिक बल तैनात, गृह मंत्रालय ले रहा पल-पल की अपडेट

यह कोई पहला वीडियो (Policeman Breaking CCTV Camera)  नहीं है जब दिल्ली पुलिस (Delhi Police) पर इस तरह के सवाल उठे हो। इससे पहले सोमवार को भी एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें कुछ पुलिसकर्मी प्रदर्शनकारियों को पीटते हुए उनसे जबरदस्ती वंदेमातरम गवा रहे थे। वहीं जामिया यूनिवर्सिटी (Jamia Millia Islamia) के वीडियो के बारे में तो हम सभी ही जानते हैं। यहां भी पुलिस द्वारा लाइब्रेरी में घुसकर छात्रों को जबरदस्ती पीटा गया था। दिल्ली में लगातार सामने आ रहे पुलिस के इस रवैये को लेकर सवाल उठ रहे हैं। अब देखना होगा कि गृह मंत्रालय (home Ministry) इस तरह के कार्य करने वाले पुलिसवालों पर क्या कार्रवाई करता है।

संविधान बचाना बहाना है, असली मकसद देश जलाना है

गौरतलब है कि जामिया मिलिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) की लाइब्रेरी में छात्रों के ऊपर पुलिस (Policeman Breaking CCTV Camera)  के लाठीचार्ज का जो वीडियो वायरल (CAA protest video) हुआ था उसने सोशल मीडिया पर जमकर सनसनी मचाई थी जिसके बाद दिल्ली पुलिस और साथ ही साथ केंद्र सरकार (central government) पर चौतरफा तीखे हमले होने लगे थे। दिल्ली पुलिस और केंद्र सरकार पूरी तरह से चारों ओर से घिर गई थी। विपक्ष भी लगातार केंद्र सरकार पर सवाल उठा रहा था। हालांकि दिल्ली पुलिस ने कहा था कि वीडियो (CAA protest video) की जांच की जा रही है। जो वीडियो इंटरनेट पर तेजी से वायरल हुआ था उस पर जामिया यूनिवर्सिटी (Jamia Millia Islamia violence) प्रशासन ने अपने हाथ खींच लिए थे और कहा था कि यह वीडियो उनकी तरफ से जारी नहीं किया गया। इसके बाद जानकारी सामने आई थी कि यह वीडियो जामिया के छात्रों के एक संगठन ‘जामिया कोऑर्डिनेशन कमेटी’ (Jamia Coordination Committee) को कहीं से मिला था। इस वीडियो के सही होने के दावे किए भी किए गए और दिखाया गया कि कैसे पुलिस लाइब्रेरी के अंदर घुसकर छात्रों को पीट रही है। इसे जामिया यूनिवर्सिटी प्रशासन (Jamia University Administration) ने गलत बताते हुए दिल्ली पुलिस के पास शिकायत दर्ज करवाई और इस मामले में सख्त कार्रवाई की मांग की।

मदद मांगने पर दिल्ली पुलिस ने मुस्लिम युवक को कहा- तुम्हें आज़ादी चाहिए थी, अब भुगतो

दिल्ली में हो रही हिंसा (Delhi violence) को लेकर लगातार पुलिस (Delhi Police) पर सवाल उठाए जा रहे हैं। इस दौरान दिल्ली पुलिस का लापरवाह रवैया भी लगातार सामने आ रहा है। दिल्ली पुलिस (Policeman Breaking CCTV Camera) के जवानों को डायल 100 पर एक युवक ने फोन किया था। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने कुछ ऐसी प्रतिक्रियाएं दी, जो हर किसी को नागवार गुज़री। बाबू नगर की स्थिति को लेकर नौशाद नामक एक युवक ने पुलिस को डायल-100 पर फोन किया था। लेकिन पुलिस ने कुछ ऐसा जवाब दिया, जिसकी किसी को भी उम्मीद नहीं थी। इस ऑडियो को निशांत वर्मा नामक एक व्यक्ति ने ट्वीट किया है। जिसमें उन्होंने दिल्ली पुलिस से इस काॅल की जांच करने की भी अपील की है। दिल्ली पुलिस ने नौशाद को जवाब दिया कि बाबू नगर में स्थिति बिगड़ी है, लेकिन आग तो लगी है ना। उन्होंने कहा कि जब आग लगेगी तब देखेंगे। वहीं ऑडियो में साफ-साफ सुना जा सकता है कि पुलिसकर्मी भी अपने साथी को कह रहा है कि सर आग नहीं लगी है, जाने की जरुरत नहीं है। वहीं पुलिसकर्मी ने नौशाद को यह भी कहा कि ‘‘तुम्हें ही आज़ादी चाहिए थी ना, लो भुगतो।“

दिल्ली में दंगाईयों की भीड़ ने Jk 24X7 न्यूज़ चैनल के रिपोर्टर आकाश को मारी गोली

Rahul Tiwari / Prabhat Jain

Share.