इंदौर में पुलिस ने पकड़ी गो तस्करी की बड़ी खेप

0

भारत एक कृषि प्रधान देश है, इस देश की पहचान है यहां के खेत-खलिहान । इस देश में बैलों को किसानों का सबसे अच्छा मित्र कहा जाता था, लेकिन आज उनकी हालत बद से बत्तर हो गई है। गो-तस्करी के चलते इंदौर के पास स्थित कजलीगढ़ में पुलिस प्रशासन ने तकरीबन 70 मवेशियों से भरी एक खेप पकड़ी है।

इंदौर में महिला SI ने सीएसपी सास और पति को बेरहमी से पीटा

यह खबर इंदौर से करीब 28 किलोमीटर दूर स्थित कजलीगढ़ के पास की, जहां करीब 70 बैलों से भरे ट्रक की पुलिस द्वारा खेप पकड़ी गई है। आम तौर पर एक ट्रक में 35 से 40 बड़े मवेशियों को भरा जाता है, लेकिन ट्रक में इन बैलों को इतनी बेरहमी से भरा गया था की कुछ की ट्रक में ही मौत हो गई।

पत्नियों का खर्च उठाने के लिए बन गया बाइक चोर

सिमरोल के TI ने टैलेंटेड इंडिया से हुई बातचीत में बताया कि उन्हें एक अज्ञात व्यक्ति ने कॉल पर बताया कि कजलीगढ़ के पास स्थित एक चौराहे पर एक ट्रक में बड़ी संख्या में गौवंश को तस्करी के लिए ले जाया जा रहा है। खबर मिलते ही पुलिस प्रशासन जानकारी के अनुसार बताए स्थान पर पहुंच गई। जो ट्रक पकड़ा गया उसकी नंबर-प्लेट MH 18 BA 8661 है । पुलिस ने यह भी आश्वासन दिया है कि सभी मवेशियों को सुरक्षित कजलीगढ़ स्थित गौशाला में रखा जाएगा और पशु चिकित्सक को भी बुलवा लिया गया है।

इंदौर में 8 टीआई का हुआ तबादला

यह खबर खास इसलिए भी है क्योंकि आज देश में कई मामलों पर mob-lynching कि घटनाएँ सामने आ रहीं है । मोब lynching गलत है, लेकिन गोधन के साथ ऐसा व्यवहार एक विशेष समुदाए के लोगों कि धार्मिक भावनाएँ भी अहात करता है। खैर इस मामले में टैलेंटेड इंडिया कि टीम ने पुलिस प्रशासन द्वारा कि गई करवाई और स्थिनीय लोगों द्वारा दी गई मदद पर धन्यवाद भी दिया । 

 

 

Share.