कर्ज से दबी पीएनबी अब बेचेगी बिल्डिंग

0

नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के 13,500 करोड़ रुपए के घोटाले के बाद पंजाब नेशनल बैंक लगातार नुकसान में है। बैंक इस घोटाले के बाद लगातार घाटे में चल रही है, जिससे अब नौबत यह आ गई है कि पीएनबी को अपना पुराना हेडक्वार्टर बेचना पड़ रहा है। पीएनबी ने नुकसान से उबरने के लिए दक्षिण दिल्ली स्थित अपने पुराने हेडक्वार्टर को बेचने का फैसला लिया है।

पुराने हेडक्वार्टर को बेचने के लिए बैंक ने आयकर और एक्साइज विभाग से भी चर्चा की है। हीरा कारोबारी नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की फ़र्ज़ी एएलयू से बैंक पर बहुत से देनदारी आ गई है, जिसे चुकाने के लिए बैंक को अपनी प्रॉपर्टी बेचनी पड़ रही है। बैंक के एमडी और सीईओ सुनील मेहता ने बताया कि पंजाब नेशनल बैंक के इस पुराने हेडक्वार्टर की दोबारा वैल्युएशन की जा रही है। इससे पहले 5-6 महीने पूर्व इस प्रॉपर्टी की वैल्युएशन की गई थी, जिसके बाद प्रॉपर्टी के रेट बढ़े हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि पुराने हेडक्वार्टर को बेचकर बैंक को लगभग 700-800 करोड़ रुपए की उम्मीद है।

नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के घोटाले के कारण बैंक को 2017-18 में 12,283 करोड़ का घाटा हुआ था। इस वर्ष जून तिमाही के नतीजे आने के बाद बैंक को लगभग 984 करोड़ का घाटा सहना पड़ा, जिसके बाद पंजाब नेशनल बैंक ने यह प्रॉपर्टी बेचने का फैसला लिया है। सीबीआई की चार्जशीट के मुताबिक़, मेहुल चौकसी की कंपनियों को 7081 करोड़ और नीरव मोदी की कंपनियों को 6498 करोड़ रूपए के फ़र्ज़ी एलओयू जारी किया था।

Share.