पीएम ने दिया अन्ना को जवाब

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार समाजसेवी अन्ना हजारे के पत्र का जवाब दिया है| अन्ना हजारे लगातार चार वर्षों से प्रधानमंत्री को पत्र लिख रहे थे, लेकिन उन्हें अभी तक कोई जवाब नहीं मिला था, लेकिन अब पीएम कार्यालय से जवाब आया है|

दरअसल, वर्ष 2014 से लेकर अभी तक अन्ना ने मोदी को 15 से अधिक ख़त लिखे और कहा कि लोकपाल कानून को सही तरीके से कार्यान्वित करवाया जाए, लेकिन चार वर्ष में एक बार भी पीएम की तरफ से कोई जवाब नहीं दिया गया|

पीएम मोदी द्वारा अनदेखी के बाद अन्ना ने नाराज होकर केंद्र सरकार के खिलाफ दिल्ली के रामलीला मैदान पर सशक्त लोकपाल कानून लाने और  किसानों से संबंधित कई मांगों के साथ आंदोलन शुरू किया था| यह आंदोलन  महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और कृषि राज्यमंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत की समझाइश के बाद समाप्त हुआ था| अन्ना ने सरकार को धमकी दी है कि यदि सरकार द्वारा लोकपाल बिल को लेकर कोई सकारात्मक जवाब नहीं आता है तो वे अक्टूबर से एक बार फिर अनशन शुरू कर देंगे| उनके इसी धमकी भरे ख़त का जवाब पीएम ऑफिस द्वारा दिया गया|

Share.