पीएम मोदी विदेश यात्राओं के दौरान होटल में रुकने की बजाय एयरपोर्ट पर ही रुकते हैं.

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi ) इन दिनों दुनिया के बेहतरीन नेताओं में से एक उनकी नीतियों और कार्यों का लोहा पूरा दुनिया मानता है। आपने देखा होगा कि पीएम मोदी भारत का नाम दुनिया भर में ऊपर लाने के लिए और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों(International relations) को मजबूत करने के लिए अक्सर विदेश यात्राएं करते रहते है। लेकिन उनकी इन यात्राओं को लेकर अक्सर विपक्ष और कुछ आलोचकों द्वारा यह सवाल उठाया जाता है कि मोदी जी की विदेश यात्रा में बहुत अधिक मात्रा में धन खर्च होता है। इस सवाल का जवाब बुधवार को लोकसभा में गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने दिया गृहमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जब कभी भी विदेश दौरे पर जाते हैं तो कोशिश करते हैं कि किसी तरह खर्चां में कटौती की जा सके. अक्सर प्रधानमंत्री मोदी विदेश यात्राओं में टेक्निकल हॉल्ट के दौरान फाइव स्टार होटल में ठहरने के बजाय एयरपोर्ट टर्मिनल्स (Airport terminals) पर ही आराम या नहाने का विकल्प चुन लेते हैं.

NCP से बगावत के बाद भी अजित पवार फिर बने डिप्टी CM

अमित शाह ने लोकसभा में आगे जवाब देते हुए कहा कि जब भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विदेश यात्रा पर जाते हैं तो अपने साथ पिछली बार की तुलना में 20 फीसदी कम स्टाफ ले जाते हैं. इसी तरह आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल के लिए इस्तेमाल होने वाली कारों की संख्या में भी उन्होंने कटौती की है. पहले अधिकारी अलग-अलग कारों का इस्तेमाल करते थे, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी के आने के बाद ये सभी लोग बस या किसी बड़े वाहन में एक साथ जाते हैं.

ट्रंप ने किए हांगकांग विधेयक पर हस्ताक्षर, चीन ने दी चेतावनी

गृहमंत्री ने एसपीजी संशोधन विधेयक 2019 (SPG Amendment Bill 2019) पर जवाब देते हुए कहा कि गांधी परिवार ने एसपीजी सुरक्षा के मानदंडों का कई बार उल्लंघन किया है, जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले 20 सालों से मिली एसपीजी सुरक्षा के दौरान एक बार भी इसका उल्लंघन नहीं किया है. शाह ने कहा कि कुछ लोगों के लिए सुरक्षा कवर एक स्टेटस सिंबल रहा है. कुछ के लिए यह मात्र एक मुद्दा बन गया है.

आतंकी गोडसे की भक्त साध्वी प्रज्ञा ठाकुर आतंकवादी

-Mradul tripathi

Share.