website counter widget

PM Narendra Modi Speech In Varanasi : जानिये पीएम मोदी ने वाराणसी में क्या-क्या कहा

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज यानी शनिवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी (PM Narendra Modi Speech In Varanasi) पहुंचे। पीएम ने वहां लाल बहादुर शास्त्री की प्रतिमा का अनावरण किया। इसके बाद वे हरहुआ स्थित प्राथमिक विद्यालय कैंपस पंचकोशी मार्ग पर नवग्रह वाटिका पहुंचे, जहां उन्होंने पूजा-पाठ के साथ वृक्षारोपण अभियान की शुरुआत की। उन्होंने पीपल का पौधा लगाया और बच्चों को पौधे सौंपे।

Karnataka Kumaraswamy Government In Danger : कांग्रेस-जेडीएस के 12 विधायकों के इस्तीफे

कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने पांच समाजसेवियों को सदस्य बनाया। पांचों समाजसेवियों ने 8980808080 पर मिस कॉल कर बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की। इसके बाद उन्होंने जनता को सम्बोधित किया (PM Narendra Modi Speech In Varanasi) ।

पीएम का सम्बोधन

वाराणसी में पीएम ने अपने भाषण (PM Narendra Modi Speech In Varanasi) में  कहा कि काशी की पावन धरती से देशभर मैं बीजेपी के हर समर्पित कार्यकर्ता का अभिवादन करता हूं। आज मुझे काशी से बीजेपी के सदस्यता अभियान को शुरू करने का अवसर मिला है। हमारे प्रेरणापुंज डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी की जयंती पर इस कार्यक्रम की शुरुआत होना सोने पर सुहागा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को पेश हुए आम बजट 2019-20 का जिक्र करते हुए कहा कि देशभर में 5 ट्रिलियन डॉलर की इकनॉमी की गूंज हैं। कुछ लोग भारतीयों की क्षमता पर शक करते हैं। मैं बड़े लक्ष्य पर देशवासियों से बात करना चाहता हूं। क्योंकि न्यू इंडिया तो अब दौड़ना चाहता है। ये संयोग है कि ये भवन पंडित दीन दयाल उपाध्याय के नाम पर है और इस कार्यक्रम का शुभारंभ हमारी काशी से शुरु हो रहा है, यानि एक त्रिवेणी बनी, जिस पर हम सदस्यता अभियान की शुरुआत कर रहे हैं।

7.1 तीव्रता के भूकंप से मच गया हड़कंप, यह हुआ…

पीएम ने अपने भाषण में आगे कहा कि जब किसी भी देश में प्रति व्यक्ति आय बढ़ती है, तो वो खरीद की क्षमता बढ़ाती है, खरीद की क्षमता बढ़ती है तो डिमांड बढ़ती है। डिमांड बढ़ती है तो सामान का उत्पादन बढ़ता है, सेवा का विस्तार होता है और इसी क्रम में रोजगार के नए अवसर बनते हैं। यही प्रति व्यक्ति आय में वृद्धि, उस परिवार की बचत या सेविंग को भी बढ़ाती है।

आने वाले 5 सालों में 5 ट्रिलियन डॉलर की विकास यात्रा में अहम हिस्सेदारी होगी किसान और खेती की। आज देश खाने-पीने के मामले में आत्मनिर्भर है, तो इसके पीछे सिर्फ और सिर्फ देश के किसानों का पसीना है, सतत परिश्रम है।  अब हम किसान को पोषक से आगे निर्यातक यानी एक्सपोटर के रूप में देख रहे हैं। अन्न हो, दूध हो, फल-सब्जी, शहद या फिर ऑर्गेनिक उत्पाद, हमारे पास निर्यात की भरपूर क्षमता है।

PM Narendra Modi Speech In Varanasi : जानिये पीएम मोदी ने वाराणसी में क्या-क्या कहा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में आगे कहा कि पानी, विकास की एक और ज़रूरी शर्त है। इसलिए जल संरक्षण और जल संचयन के लिए पूरे देश को एकजुट होकर खड़ा करने की कोशिश की जा रही है। हमारे सामने पानी की उपलब्धता से भी अधिक पानी की फिजूलखर्ची और बर्बादी बहुत बड़ी समस्या है। लिहाजा घर में उपयोग हो या फिर सिंचाई में, पानी की बर्बादी को रोकना आवश्यक है।

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.