गांधी जयंती पर पीएम मोदी ने देश को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया

0

महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुबह राजघाट जाकर महत्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद आज शाम को वे गुजरात पहुंचे। गुजरात के अहमदाबाद में स्थित साबरमती आश्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के साथ पहुंचे। इस अवसर पर पीएम मोदी ने 150 रुपये का चांदी का सिक्का भी जारी किया। इसके बाद पीएम ने स्वच्छ भारत दिवस के कार्यक्रम में हिस्सा लिया और वहां उपस्थित सरपंचों को संबोधित किया। अपने संबोधन में पीएम ने कहा, “साबरमती के इस पावन तट से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और सादगी के, सदाचार के प्रतीक पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी को मैं नमन करता हूं, उनके चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूं।”

इसके बाद पीएम ने कहा, “पूज्य बापू की 150वीं जयंती का पावन अवसर हो, स्वच्छ भारत अभियान का इतना बड़ा पड़ाव हो, शक्ति का पर्व नवरात्र भी चल रहा हो, हर तरफ गरबा की गूंज हो, ऐसा अद्भुत संयोग कम ही देखने को मिल पाता है।” उन्होंने आगे कहा “बापू की जयंती का उत्सव तो पूरी दुनिया मना रही है। कुछ दिन पहले संयुक्त राष्ट्र ने डाक टिकट जारी कर इस विशेष अवसर को यादगार बनाया और आज यहां भी डाक टिकट और सिक्का जारी किया गया है। मैं आज बापू की धरती से, उनकी प्रेरणा स्थली, संकल्प स्थली से पूरे विश्व को बधाई देता हूं, शुभकामनाएं देता हूं।” आगे पीएम ने कहा, “यहां आने से पहले मैं साबरमती आश्रम गया था। अपने जीवन काल में मुझे वहां अनेक बार जाने का अवसर मिला है। हर बार मुझे वहां पूज्य बापू के सानिध्य का एहसास हुआ लेकिन आज मुझे वहां एक नई ऊर्जा भी मिली।”

गौरतलब है कि आज पीएम मोदी ने गांधी जयंती के अवसर पर देश को शौच से मुक्त घोषित किया। पीएम मोदी ने कहा, “आज साबरमती की ये प्रेरक स्थली स्वच्छाग्रह की एक बड़ी सफलता की साक्षी बन रही है, ये हम सभी के लिए खुशी और गौरव का अवसर है। आज ग्रामीण भारत ने, वहां के गांवों ने खुद को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया है। स्वेच्छा से, स्वप्रेरणा से और जनभागीदारी से चल रहे स्वच्छ भारत अभियान की ये शक्ति भी है और सफलता का स्रोत भी है।” इसके बाद पीएम मोदी ने सभी स्वच्छाग्रहियों को धन्यवाद प्रेषित करते हुए कहा, “मैं हर देशवासी को, विशेषकर गांवों में रहने वालों को, हमारे सरपंचों को, तमाम स्वच्छाग्रहियों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं। आज जिन स्वच्छाग्रहियों को यहां स्वच्छ भारत पुरस्कार मिले हैं, उनका भी बहुत-बहुत अभिनंदन।”

Prabhat Jain

Share.