बाबा बर्फानी ने समय से पहले ही ले लिया अवतार

0

अमरनाथ हिन्दुओं का एक प्रमुख तीर्थस्थल है। हिंदू मान्यता में अमरनाथ यात्रा (Pilgrimage to Amarnaath) का काफी महत्व है। इस यात्रा को काफी कठिन माना जाता है फिर भी शिवभक्त अपने जीवनकाल में एक बार यह यात्रा ज़रूर करना चाहते हैं। आषाढ़ पूर्णिमा से रक्षाबंधन तक पूरे सावन महीने में होने वाले पवित्र हिमलिंग दर्शन के लिए लाखों लोग यहां आते हैं। भक्तों को इस यात्रा के शुरू होने का बेसब्री से इंतज़ार रहता है| यह यात्रा हमेशा जून-जुलाई  माह में शुरू होती है और हिमलिंग भी उसी समय आकार लेता है, लेकिन इस बार यह बड़े ही आश्चर्य की बात है कि इस वर्ष बाबा बर्फानी ने समय से पहले ही अवतार (Amarnath Caves 2019 Photograph) ले लिया है|

अमरनाथ में भक्तों ने तोड़ा दो साल का रिकॉर्ड

Amarnath Caves 2019 Photograph :

जानें, आखिर क्यों इतना रिस्क लेकर अमरनाथ चले आते हैं भक्त

दरअसल, कुछ भक्तों ने जानकारी दी है कि उन्होंने अमरनाथ की गुफा में जाकर भगवान शिव के दर्शन किए हैं| उन्होंने नाम न बताने की शर्त पर बताया कि इस वर्ष शिवलिंग का आकार काफी बड़ा है| उन्हीं भक्तों ने कुछ दिन पहले ही तस्वीरें ली हैं| इन सभी लोगों ने दावा किया है कि ये सभी फोटो उन्होंने बाबा बर्फानी की गुफा में जाकर लिए हैं|

सूत्रों के अनुसार, 20 अप्रैल से 25 अप्रैल के दौरान 8 लोगों का समूह अमरनाथ गया था| इस समूह ने गुफा में जाकर भगवान शिव के बर्फानी दर्शन किए थे| इसी समूह ने यह सभी फोटो लिए| समूह ने जानकारी देते हुए कहा कि मुख्य सड़क से गुफा तक जाने वाले मार्ग में अभी भी 10 से 15 फीट बर्फ जमा है| उन्होंने बताया कि वहां का मौसम अभी काफी ठंड वाला है| बता दें कि सूत्र ने जानकारी दी है कि वे पहले ऐसे लोग हैं, जिन्होंने इस वर्ष अप्रैल के अंतिम सप्ताह में गुफा में जाकर बाबा बर्फानी के दर्शन किए|

अमरनाथ यात्रियों का खर्च हुआ कम

Image result for अमरनाथ की यात्रा

गौरतलब है कि 2019 की अमरनाथ यात्रा 1 जुलाई से प्रारंभ हो रही है यानी इस वर्ष की अमरनाथ की यात्रा शुरू होने में अभी करीब दो महीने से ज्यादा का समय बाकी है| अमरनाथ यात्रा की पूरी जिम्मेदारी श्राइन बोर्ड की होती है और उसकी पूरी देखरेख इसी की तरफ की जाती है| आपको बता दें कि श्राइन बोर्ड की तरफ से अभी तक कोई भी अधिकारी गुफा तक नहीं पहुंच पाया है और न ही बोर्ड की तरफ से किसी भी अधिकारी ने गुफा तक का कोई हवाई दौरा किया है|

जानें, आखिर क्यों इतना रिस्क लेकर अमरनाथ चले आते हैं भक्त

गौरतलब है कि अमरनाथ गुफा भगवान शिव के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक है। अमरनाथ को तीर्थों का तीर्थ कहा जाता है क्योंकि यहीं पर भगवान शिव ने माँ पार्वती को अमरत्व का रहस्य बताया था। यहां की प्रमुख विशेषता पवित्र गुफा में बर्फ से प्राकृतिक शिवलिंग का निर्मित होना है। प्राकृतिक हिम से निर्मित होने के कारण इसे स्वयंभू हिमानी शिवलिंग भी कहते हैं।

यहां साक्षात विराजते हैं शिव, जानिए दर्शन करके क्यों नहीं लौटते भक्त

Related image

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.