पेट्रोल-डीजल के दाम में हो सकता है इजाफा, अभी करा लें टैंक फुल

0

देश भर में प्याज की कीमतें (Onion Price) लगातार बढ़ती जा रही हैं। इस महंगाई से देशवासी बेहद परेशान हैं। अब उनकी इस परेशानी में और भी इजाफा होने जा रहा है। जी हां अब प्याज की कीमतों के बाद जल्द ही खाद्य तेलों और पेट्रोल व डीजल के दामों में वृद्धि देखने को मिल सकती है। दरअसल पाम ऑयल (Palm Oil) की वजह से खाद्य तेलों (Edible Oil Prices) की कीमतें बढ़ सकती हैं। मिली जानकारी के अनुसार कच्चे तेल का उत्पादन करने वाले देशों के समूह ओपेक (Organization of the Petroleum Exporting Countries) ने उत्पादन को घटाने का निर्णय किया है। OPEC में सभी सदस्यों की एक बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि 5 लाख बैरल प्रतिदिन कच्चे तेल के प्रोडक्शन को कम किया जाएगा।

Delhi Fire : 43 लोगों की कब्रगाह बनी फैक्ट्री, देखें मृतकों की सूची

दरअसल कच्चे तेल की कीमतों में लगातार नरमी की वजह से ओपेक देशों द्वारा यह फैसला लिया गया है। ओपेक द्वारा लिए गए इस फैसले से देशवासियों की परेशानियों में इजाफा हो सकता है। बाजार विश्लेषकों का मानना है कि ओपेक के इस फैसले के बाद कच्चे तेल की कीमतों में इजाफा होना स्वाभाविक है। उन्होंने कहा कि यदि कच्चे तेल की कीमतों में 4 डॉलर प्रति बैरल तक की बढ़ोत्तरी हो जाती है और भारतीय रुपए में भी डॉलर के मुकाबले ज्यादा उतार-चढ़ाव आता है तो इससे देश में पेट्रोल व डीजल की कीमतें भी प्रभावित होंगी। बाजार विश्लेषकों का कहना है कि देश भर में पेट्रोल व डीजल की कीमतों में तकरीबन 2 रुपए प्रति लीटर तक का असर देखने को मिल सकता है।

SC में Hyderabad Encounter, मानवाधिकार आयोग की टीम कर रही जांच

हालांकि ओपेक द्वारा यह निर्णय लिए जाने से पूर्व ही अमरीका ने अपना उत्पादन बढ़ाने की घोषणा की थी। अमरीका ने अपनी घोषणा में कहा था कि साल 2020 में वह अपना उत्पादन बढ़ाएगा। ऐसे में ओपेक द्वारा उत्पादन कम किए जाने का ज्यादा असर नहीं होगा। हालांकि भू-राजनीतिक अस्थिरता बढ़ने का असर कच्चे तेल की कीमतों पर जरूर पड़ सकता है।

आप भी देखिए उन्नाव कांड के भेड़ियों के Viral Photo

Prabhat Jain

Share.