लोकसभा में हंगामा, मॉब लिंचिंग पर नारेबाजी

0

18 जुलाई यानी आज से संसद का मानसून सत्र शुरू हो गया है, जो 10 अगस्त तक चलेगा| कांग्रेस से लेकर टीडीपी तक सभी अपने-अपने मुद्दे को लेकर सरकार को घेरने की तैयारी में हैं| इस संबंध में सत्र शुरू होने के पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष से सहयोग की अपील की है|

यह भी अंदेशा जताया जा रहा है कि कहीं मानसून सत्र का वही हाल तो नहीं होगा, जो बजट सत्र के दूसरे हिस्से का हुआ था? सत्र में इस दौरान लोकसभा में आठ पेंडिंग बिल और छह अध्यादेशों पर चर्चा होगी| यह भी माना जा रहा है कि आंध्रप्रदेश में सत्ताधारी तेलुगूदेशम पार्टी (टीडीपी) राज्य को विशेष दर्जा देने की अपनी मांग के लिए केंद्र सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश कर सकती है| वहीं विपक्ष मॉब लिंचिंग पर नारेबाज़ी कर रहे हैं|

आंध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की अपनी मांग के मुद्दे पर भाजपा से नाता तोड़ चुकी टीडीपी ने बजट सत्र के दौरान यह मुद्दा उठाया था, जो अब मानसून सत्र में भी जारी रहेगी| गौरतलब है कि इसके पहले संसद के बजट सत्र में कई अवरोधों और स्थगनों के कारण कोई काम नहीं हो पाया था|

प्रधानमंत्री के साथ ही लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन और राज्यसभा के सभापति एम.वेंकैया नायडू ने सभी राजनीतिक पार्टियों से अपील की है कि वे सरकार को प्रभावी तरीके से संसद की कार्यवाही चलाने में मदद करें|

इस समय होता है कार्य

संसद में कामकाज सुबह 11 बजे शुरू होता है, जो आमतौर पर शाम छह बजे तक चलता है, लेकिन कई बार यह तय नहीं होता है क्योंकि कार्यवाही कई बार देर शाम तक भी चलती है| वहीं दोपहर एक से दो बजे तक लंच होता है, लेकिन कभी-कभी समय को भी बदला जा सकता है| यह स्पीकर पर निर्भर करता है| शनिवार और रविवार के दिन अवकाश होने की वजह से संसद में कार्यवाही नहीं चलती है|

Share.