बीजेपी की पंकजा अब शिवसेना की मुंडे!

0

महाराष्ट्र बीजेपी नेताओं में टकराव की स्थिति अब साफ होती जा रही है। पहले शिवसेना ने बीजेपी के साथ बगावत करते हुए विरोधियों के साथ हाथ मिला लिया और सूबे में नई सरकार बना ली। अब ऐसे ही बीजेपी के नेता भी बगावत पर उतर आए हैं। महाराष्ट्र में बीजेपी की साख मजबूत करने वाले गोपीनाथ मुंडे की बेटी पंकजा मुंडे के भी बगावत के सुर सुनाई दे रहे हैं। जिन्हें सुनने के बाद कहा जा रहा है कि मुंडे बीजेपी का साथ छोडकर शिवसेना में शामिल (Pankaja Munde Joins Shiv Sena) होने वाली है।

पंकजा मुंडे ने छोड़ी बीजेपी? दिया बड़ा बयान

शिवसेना में शामिल पंकजा मुंडे ?

अपने पिता गोपीनाथ मुंडे की पुण्यतिथि (Gopinath Munde’s death anniversary ) के मौके पर रैली को संबोधित करते हुए पंकजा (Pankaja Munde Joins Shiv Sena) ने कहा था ने इस बात का ऐलान कर दिया कि वे अपनी पार्टी से खुश नहीं हैं। वे इस बात के लिए स्वतंत्र है कि उन्हें बीजेपी में रहना है या नहीं । इसके साथ  ही उन्होने यह  भी कहा कि वह बीड जिले की पर्ली सीट अपने चचरे भाई और एनसीपी नेता धनजंय मुंडे से इसलिए हारी क्योंकि बीजेपी के कुछ नेता नहीं चाहते थे कि वह चुनाव जीतें। अपने पिता को याद करते हुए उन्होने कहा कि गोपीनाथ मुंडे भले ही हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन आज भी उन्हें लोग कितना चाहते हैं यह अब समझ आ रहा है। मेरी चुनाव में हार हुई है पर लोगों का प्यार आज भी मेरे साथ है। मुझे छोटी-मोटी चिल्लर हार नहीं झुका सकती है। लोग मेरे साथ हैं। मैंने संघर्ष यात्रा निकाली और मेरे साथ लोग खड़े रहे। विधानसभा चुनाव के वक्त मैंने देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री बनाने के लिए चुनाव प्रचार किया।

छोडकर बीजेपी का साथ पंकजा मुंडे ने थामा कांग्रेस का हाथ !

पार्टी को ब्लैकमेल करना चाहती हैं पंकजा

राज्यसभा सदस्य संजय काकड़े का कहना है कि विधानसभा चुनाव में हार के लिए वह अन्य को जिम्मेदार ठहराकर पार्टी को ब्लैकमेल करने की कोशिश कर रही हैं। गोपीनाथ मुंडे को भी हार का मुंह नहीं देखना पड़ा, क्योंकि वह लोगों से जुड़े रहते थे, लेकिन पंकजा (Pankaja Munde Joins Shiv Sena) के मामले में ऐसा नहीं है। उन्होंने अपने निर्वाचन क्षेत्र की उपेक्षा की. जातीय राजनीति की और इसलिए वह हारीं।

पंकजा मुंडे ने बताया राहुल गांधी को बम

         – Ranjita Pathare

 

Share.