INX मामले में पी चिदंबरम को मिली जमानत

0

कांग्रेस के पूर्व नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को INX मामले में जमानत ( P Chidambaram gets bail on INX case) मिल गई है। उन्हें एल लाख के मुचलके पर जमानत दी गई है, पिछली कई बार से उनकी जमानत याचिका खारिज की जा रही है। चिदंबरम ने भ्रष्टाचार के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High court) से जमानत न मिलने के फैसले को चुनौती देते हुए याचिका दायर की थी। अब जमानत मिलने के बाद  उन्हें ट्रायल कोर्ट के पास अपना पासपोर्ट जमा करना होगा। तथा वे अदालत की अनुमति के बिना देश से बाहर भी नहीं जा सकते हैं।

पाकिस्तान के कारण नहीं सुलझ पा रहा कश्मीर मसला

जमानत मिलने के बाद भी रहेंगे जेल में

पी चिदम्बरम को जमानत मिल जाने के बाद भी वे जेल में ही रहेंगे। ऐसा इसीलिए क्योंकि अभी भी वे प्रवर्तन निदेशालय की कस्टडी में हैं। प्रवर्तन निदेशालय की ओर से उन्हें 24 अक्टूबर तक जेल में भेजा गया है। पी चिदंबरम को सीबीआई  ने 21 अगस्त को भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तार किया था। उन पर आरोप लगाया गया है कि चिदंबरम के कार्यकाल के दौरान 2007 में 305 करोड़ रुपये के विदेशी फंड प्राप्त करने के लिए INX मीडिया समूह को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (FIPB) की मंजूरी में अनियमितता की थी। इस मामले में 15 मई, 2017 को सीबीआई की ओर से प्राथमिक दर्ज कारवाई गई थी। इसके बाद ईडी ने 2017 में इस संबंध में मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था।

चुनाव में शिवसेना का सपना चकनाचूर!

चिदंबरम के साथ ही उनके बेटे कार्ति चिदम्बरम के सिर पर भी गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। सीबीआई द्वारा दायर आरोप पत्र में अन्य लोगों खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया था जिनमें उनके बेटे कार्ति तथा कुछ नौकरशाह शामिल हैं। दिल्ली की एक अदालत ने आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम और 13 अन्य के खिलाफ सीबीआई द्वारा दायर आरोप-पत्र पर संज्ञान लिया था। विशेष न्यायाधीश अजय कुमार कुहाड़ ने आरोप-पत्र पर संज्ञान लेने से पहले सीबीआई से अनेक सवाल पूछे थे और इसी के साथ आरोपियों पर कार्रवाई करने की मंजूरी भी दी गई थी।

Share.