महासभा के सदस्यों का विरोध

0

14 अप्रैल को भीमराव आंबेडकर की जयंती मनाने के लिए पूरे देश में जगह-जगह पर कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा| इसी कड़ी में उत्तरप्रदेश में आंबेडकर महासभा द्वारा भी कार्यक्रम आयोजित किया गया है| इस कार्यक्रम के लिए  महासभा द्वारा लिए गए एक फैसले का खुद महासभा के सदस्य ही विरोध कर रहे हैं|

दरअसल, आंबेडकर महासभा ने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ‘दलित मित्र सम्मान’ देने का फैसला लिया है, इसके लिए सारी तैयारियां भी शुरू हो गई है लेकिन अब इस फैसले का विरोध किया जा रहा है|

आंबेडकर महासभा के सदस्यों द्वारा किए जा रहे इस विवाद को लेकर समाजवादी पार्टी का कहना है, “शायद सीएम ने इस पुरस्कार के लिए महासभा के अध्यक्ष को मैनेज कर लिया है, क्योंकि यूपी में तो दलितों के हित में कोई काम नहीं हो रहा है|” वहीं इस मामले पर भाजपा की ओर से कहा जा रहा है कि यदि महासभा सीएम को सम्मान देना चाहती है तो इस पर किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए|

Share.