“जय श्री राम” की जगह सुनाई चौपाई

0

देश में आज “जय श्री राम” के नारों को लेकर काफी चर्चे हैं। एक तरफ ज़बरदस्ती कर जय श्री राम (Jai Shri Ram) के नारों को लगवाकर मोब लिंचिंग (Mob Lynching) की जा रही है, तो कहीं न बोलने पर दंगे हो रहे है। इन सभी के कारण देश कहीं न कहीं धार्मिक राष्ट्रवाद के लपेटे में आ रहा है। हाल ही में, झारखण्ड के जामताड़ा (Jharkhand’s Jamtara)  ज़िले में इसी (old man forced to chant jai shri ram chanted choupai) तरह से ‘जय श्री राम’ के नारों को ज़बरदस्ती बुलवाने का मामला सामने आया। यहां कुछ युवकों ने जबरन जय श्री राम के नारों बुलवाने के लिए एक बुजुर्ग विक्रेता को घेर लिया, लेकिन उनका जवाब देख हैरान रह गए। दरअसल, युवकों ने जैसी ही बुजुर्ग को जय श्री राम के नारे लगाने कहा, वैसे ही उन्होंने पूरी रामायण (Ramayan) की चौपाई सुना दी।

#TempleTerrorAttack : दिल्ली के मंदिर में तोड़फोड़ का क्या है सच ? जानिए

मामला रविवार का है, जब जामताड़ा (Jamtara)  के मिहिजाम में मस्जिद रोड पर एक बुजुर्ग लुंगी पहनकर फल बेच रहे थे। फल बेचने वाे बुजुर्ग के पास एक कार आकर रुकी। कर से उतरे (old man forced to chant jai shri ram chanted choupai) लोगों ने बुजुर्ग के ठेले को लेकर पहले तो आपत्ति जताई और फिर जय श्रीराम के नारे लगाने मजबूर कर दिया।

उसके बाद बुजुर्ग ने युवकों को जवाब रामायण की चौपाई में दिया और कहा ‘बैर न कर काहू सन कोई, राम प्रताप विषमता खोई.’ इस तरह चौपाई सुनकर सुनते ही युवकों की सारी (old man forced to chant jai shri ram chanted choupai) दादागिरी गम हो गई। बुजुर्ग की चौपाई शुरू ही हुई थी की जनता की भीड़ इखट्टा होने लगी। युवकों को हमला होने का दर था और यही देख युवक गफ़रार हो गए।

प्रदर्शनकारियों का गुस्सा इतना बढ़ा कि संसद में की तोड़फोड़

गृहमंत्री अमित शाह को बम से उड़ाने की धमकी

Share.