अब बनेगा आपकी सेहत का ‘आधार’ कार्ड

0

देश में आधार कार्ड को लोगों तक पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार ने कई कवायद की हैं| आधार कार्ड की तर्ज पर अब सरकार सेहत का भी आधार बनाने की तैयारी कर रही है| इस हेल्थ आईडी में मरीज के जन्म से लेकर अब तक हुई बीमारियों, दी गई दवाइयों और जांच रिपोर्ट सहित उसकी सेहत से जुड़ी सभी जानकारियां होंगी| यूनिक हेल्थ आईडी के जरिये देशभर में कहीं भी मरीज का रिकॉर्ड डॉक्टर देख सकेंगे| यूनिक हेल्थ आईडी को देशभर के सरकारी अस्पतालों में मान्य किया जाएगा| इससे मेडिकल रिकॉर्ड्स खोने का डर खत्म होगा|

इसमें प्रत्येक यूज़र के लिए एक यूनिक डिजिटल हेल्थ आईडी का प्रावधान होगा| यूज़र को रजिस्ट्रेशन के बाद एक डिजिटल हेल्थ आईडी मिलेगी, जिसका इस्तेमाल इलाज करवाने के लिए किया जाएगा| इसका इस्तेमाल सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए किया जा सकता है| इसमें सभी धारकों का हेल्थ कार्ड भी रखे जाने की बात कही जा रही है|

देश में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए सरकार की यह पहल कारगर साबित हो सकती है| देश में आज भी कई जगहों पर लोगों को प्राथमिक उपचार के लिए भी भटकना पड़ता है, ऐसे में सरकार की यह योजना देश की लचर स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार ला सकती है|

Share.