आकाश विजयवर्गीय को भाजपा ने जारी किया नोटिस

0

इंदौर नगर निगम ( Indore Municipal Corporation) के कर्मचारी की बल्ले से पिटाई करने वाले भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय (Akash Vijayvargiya)  की मुश्किलें अब और बढ़ गई है। भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के विधायक पुत्र आकाश विजयवर्गीय के खिलाफ भाजपा ने नोटिस ( Notice Issued By BJP To Akash Vijayvargiya) जारी किया है। पार्टी ने नोटिस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान के बाद जारी किया, जो उन्होंने संसदीय दल की बैठक में दिया था।

4 जुलाई से शुरू होने वाली है भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने मंगलवार को भाजपा संसदीय दल की बैठक (BJP’s Parliamentary Party meeting) में कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) के बेटे आकाश विजयवर्गीय द्वारा नगर निगम के अधिकारी (Municipal Corporation officer) को बैट (cricket bat) से पीटने के मामले को अस्‍वीकार्य बताते हुए इस हरकत पर गहरी नाराजगी जताई थी। पीएम मोदी ने अब खुले मंच से कह दिया है कि पार्टी के अंदर अंहकार, दुरव्यवहार और घंमंड की कोई जगह नहीं है।  पीएम मोदी ने कहा है कि इस तरह की घटना कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। ऐसी घटनाएं तुरंत रोकी जानी चाहिए।

खुलासा: बैंकों में पड़े है बिना मालिक के साढ़े 14 हजार करोड़ रुपये

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से नाराजगी जताने के बाद अब प्रदेश बीजेपी आकाश विजयवर्गीय को कारण बताओ नोटिस जारी करेगी।  सूत्रों के मुताबिक आकाश विजयवर्गीय को इस नोटिस का जवाब 15 दिनों के अंदर देना होगा। इस फैसले के बाद आकाश विजय वर्गीय की परेशानी बढ़ गई है।

ये था मामला

26 जून को आकाश विजयवर्गीय ने इंदौर के गंजी कम्पाउंड क्षेत्र में एक जर्जर भवन ढहाने गए नगर निगम के एक अधिकारी को बैट से पीट दिया था। इस बारे में आकाश विजयवर्गीय का कहना था कि मकान में रह रही महिलाओं को जबरन निकाला गया। घटना के बाद पुलिस ने इंदौर से विधायक आकाश को गिरफ्तार कर लिया  था।  आकाश 30 जून को जमानत मिलने के बाद जेल से रिहा हुए थे।  रिहा होने के बाद उन्होंने कहा था कि मैंने जो किया उसका कोई अफसोस नहीं है। ऐसी स्थिति में जब पुलिस के सामने एक महिला को घसीटा जा रहा था, मैं कुछ और करने के बारे में सोच भी नहीं सकता था, मैंने जो किया उसका अफसोस नहीं है, लेकिन मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि वो दोबारा बल्लेबाजी करने का अवसर न दें। ”

देश के पांच राज्यों को पीएम देंगे सौगात

 

Share.