निर्भया के बलात्कारियो को माफ़ी देने की वकालत पर भड़की कंगना

0

एक औरत को भेड़िये की तरह नोचने वाले. (Kangana Ranaut On Indira Jaisingh)
एक मासूम के शरीर मे लोहे की रॉड डालने वाले.
एक के बाद एक लगातार 6 वहशियों द्वारा दरिंदगी करने वालो को समाज मे रहने का हक है या नही
अगर ये सवाल आप से पूछा जाए तो हर किसी का एक ही जवाब आता है कि नहीं इन्हें जिंदा रहने का कोई हक नहीं है इन्हें सज़ा-ए-मौत मिलनी चाहिए ।
और हुआ भी कुछ ऐसा ही है निर्भया के हत्यारों (Nirbhya Rape Case)  को 1 फरवरी की सुबह फंदे पर लटका दिया    जाएगा । (Kangana Ranaut On Indira Jaisingh)
लेकिन उनकी मौत से पहले एक नया विवाद छिड़ गया है दरअसल (Nirbhaya convicts) विनय (Vinay), मुकेश (Mukesh), पवन (Pawan), अक्षय (Akshay) के वकील इंदिरा जयसिंह (Indira Jaising lawyer)  ने निर्भया की माँ आशा देवी से अपील की है कि वो इन चारों को माफ कर दे ।
इसके लिए उन्होंने सोनिया गांधी (Soniya Gandhi) का हवाला दिया जिन्होंने राजीव गांधी (Rajeev Gandhi) की हत्या करने वाली नलिनी मुरुगन को माफ कर दिया था ।

Nirbhaya Case: पवन जल्लाद ने कहा निर्भया के दोषियों को चौराहे पर होनी चाहिए फांसी

तब आशा देवी (Nirbhaya’s Mother Asha Devi) ने इंदिरा जय सिंह (Indira Jaisingh) पर पलटवार करते हुए कहा था कि वो एक औरत होकर औरत की पीड़ा को नही समझ सकती ऐसी ही महिलाओं के कारण देश मे बलात्कार बढ़ रहे है ।इसके बाद देश भर में इंदिरा जय सिंह  (Indira Jaisingh) के खिलाफ गुस्से की ज्वाला जल रही है ।
अब इस आग में गुस्से का घी डालने का काम बॉलीवुड (Bollywood) की सबसे कंट्रोवर्सियल अभिनेत्री कंगना (Kangana Ranaut On Indira Jaisingh) ने कर दिया है ।

एक इवेंट में पत्रकारों से बात करते समय जब उनसे निर्भया के हत्यारों (2012 Delhi gang rape) की माफ़ी की बात पूछी गई तो उन्होंने वकील इंदिरा जयसिंह (Kangana Ranaut On Indira Jaisingh) पर हमला बोल दिया ।
कंगना (Kangana Ranaut) ने कहा कि बलात्कारियों की माफी चाहने वाली उस वकील को चार दिन उन हैवानो के साथ रखों । पता चल जाएगा ।
कंगना (Kangana Ranaut) यही नहीं रुकी उन्होंने यहां तक बोल दिया कि इंदिरा जय सिंह (Kangana Ranaut) जैसी महिलाए जिन्हें बलात्कारियो पर दया आती है ऐसी ही औरतों की कोख से ऐसे बलात्कारी दरिंदे ही जन्म लेते है ।

ख़ैर इंदिरा जयसिंह (Kangana Ranaut On Indira Jaisingh) अपनी वकालत की कितनी ही दलीलें दे हैवानों को उनके अंजाम तक इस देश का कानून पहुँचा ही देगा ।

लेकिन ये एक सवाल है कि जो किसी मासूम के जिस्म को जानवर की तरह नोचता है क्या उस के साथ मानवता दिखानी चाहिए ?

Nirbhaya Case: दोषी विनय शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की क्यूरेटिव पिटीशन

Nirbhaya Case: निर्भया की मां से बोली दोषी मुकेश सिंह की मां- मेरे बेटे को माफ कर दो

Share.