निर्भया की मां आशा देवी होगी अरविंद केजरीवाल के खिलाफ उम्मीदवार!

0

दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections) में निर्भया की मां आशा देवी (Nirbhaya’s mother Aasha Devi) सीएम अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) के खिलाफ नई दिल्ली विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में उतर सकती हैं (Nirbhaya Mother Against Arvind Kejriwal). ऐसा कहा जा रहा है की निर्भया की मां कांग्रेस (congress) के टिकट पर केजरीवाल के खिलाफ चुनाव लड़ सकती हैं. और इसकी घोषणा जल्द हो सकती है. बता दें कि निर्भया मामले में फांसी में देरी होने के सवाल पर निर्भया की मां (Nirbhaya’s mother Aasha Devi) ने कई बार दिल्ली सरकार को निशाने पर भी लिया था. इस दौरान आशा देवी  (Nirbhaya’s mother Aasha Devi) ने यहां तक कहा था कि सरकार दोषियों को बचाना चाहती है.

केजरीवाल ने सबूत के साथ रखी अपने विकास की बात

आपको बता दें की निर्भया की माँ  (Nirbhaya Mother Against Arvind Kejriwal ) ने ऐसा इसलिए कहा क्योंकि आप सरकार ने दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High court)से बुधवार को कहा था कि मामले के दोषी (Nirbhaya convicts)  मुकेश कुमार सिंह (Mukesh Kumar Singh),  विनय शर्मा (Vinay Sharma), अक्षय कुमार सिंह (Akshay Kumar Singh) और पवन गुप्ता (Pawan Gupta) को पूर्व निर्धारित तारीख 22 जनवरी को फांसी नहीं दी जा सकती क्योंकि उनमें से एक दोषी ने दया याचिका (Mercy Petition) दी है और कारावास नियमावली के अनुसार जब तक सभी कानूनी विकल्प समाप्त नहीं हो जाते, फांसी नहीं दी जा सकती. बता दें, निर्भया सामूहिक बलात्कार और हत्याकांड (Nirbhaya Gang Rape and Murder) के दोषियों को फांसी में देरी पर गुरूवार को भाजपा (BJP) और आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के बीच आरोप-प्रत्यारोप भी देखने को मिला जहां भाजपा ने फांसी में विलंब में दिल्ली सरकार की संलिप्तता और लापरवाही की बात कही तो ‘आप’ ने भाजपा (BJP) पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए कहा कि कानून व्यवस्था केंद्र के पास है.

BJP का केजरीवाल से 60 हजार करोड़ का सवाल

भाजपा (BJP) के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Union Minister Prakash Javadekar) ने पत्रकारों से कहा कि 2017 में मृत्युदंड के खिलाफ अपील को खारिज करने के उच्चतम न्यायालय (Nirbhaya Mother Against Arvind Kejriwal) के आदेश के तत्काल बाद सभी दोषियों को अगर आप सरकार ने नोटिस दे दिया होता तो अब तक उन्हें फांसी हो चुकी होती और देश को इंसाफ मिल चुका होता. उन्होंने कहा, ‘अगर उन्हें अभी तक फांसी नहीं दी गयी है तो यह आप सरकार की लापरवाही की वजह से है. दिल्ली की आप सरकार की संलिप्तता की वजह से ढाई साल से अधिक की देरी हुई. दिल्ली सरकार को दोषियों से सहानुभूति है और यह देरी इसी का नतीजा है.’

Nirbhaya Mother Against Arvind Kejriwal In Election | Latest News(Nirbhaya Mother Against Arvind Kejriwal) वही आम आदमी पार्टी ने इसपर पटलवार करते हुए उप मुख्यमंत्री और आप नेता मनीष सिसोदिया (Deputy Chief Minister and AAP leader Manish Sisodia) ने केंद्र सरकार को चुनौती दी कि दिल्ली की कानून व्यवस्था दो दिन के लिए उनकी सरकार को देकर दिखाएं और वह दोषियों को फांसी पर लटका देगी. सिसोदिया और आप नेता संजय सिंह ने कहा कि भाजपा नेता ने झूठ बोला है और असंवेदनशील बयान दिया है.

Nirbhaya Mother Against Arvind Kejriwal In Election | Latest News(Nirbhaya Mother Against Arvind Kejriwal) वही दिल्ली गैंगरेप मामले पर दिल्ली के सीएम और AAP नेता अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा है कि दिल्ली सरकार के अधीन सभी काम हमारे द्वारा घंटों के भीतर पूरे किए गए. हमने इस मामले से संबंधित किसी भी कार्य में देरी नहीं की. केजरीवाल (Arvind Kejriwal) का कहना है कि हम चाहते हैं कि दोषियों को जल्द से जल्द फांसी दी जाए. इस सवाल का आशा देवी ने भी जवाब दिया है. आशा देवी (Aasha Devi)ने कहा कि ये बिल्कुल गलत है कि उन्होंने समय पर काम किया. निर्भया की मां का आरोप है कि 7 साल हो गए घटना हुए, 2.5 साल हो गए सुप्रीम कोर्ट से फैसला आए. 18 महीने हो गए रिव्यू पेटिशन (Review Petition)खारिज हुए. आशा देवी ने कहा कि जो काम सरकार को करना चाहिए था वो हमने किया.

अरविंद केजरीवाल के बड़े फैसले से हिली दिल्ली

-Mradul tripathi

Share.