फांसी के खौफ से बदहवास हो रहे निर्भया के हत्यारे

0

राजधानी दिल्ली (capital New Delhi) की सड़कों पर दौड़ती हुई एक बस में 16 दिसंबर 2012 को एक बेहद ही दिल दहलाने वाली घटना निर्भया कांड (Nirbhaya Case) को अंजाम दिया गया था। जिसने सिर्फ दिल्ली ही नहीं बल्कि पूरे देश को झकझोर कर रख दिया। इसके बाद से पूरे देश में आक्रोश की लहर उमड़ पड़ी। आखिरकार इस दर्दनाक और खौफनाक घटना को अंजाम देने वाले 6 दरिंदे (Nirbhaya Gang Rape Convicts) गिरफ्तार का लिए गए। गिरफ्तार किए गए 6 में से एक आरोपी नाबालिग निकला जिसे बाल सुधार गृह में भेज दिया गया। बाकी बचे पांचों आरोपियों को जेल की सलाखों के पीछे पहुंचा दिया गया जहां एक आरोपी ने ख़ुदकुशी कर ली।

बलात्कारी को अब 21 दिन में होगी फांसी

इसके बाद शुरू हुआ याचिकाओं का दौर। राजधानी दिल्ली की एक अदालत ने चारों आरोपियों (Nirbhaya Gang Rape Convicts) को फांसी की सजा सुनाई लेकिन दोषियों ने अदलात के फैसले को दिल्ली हाई कोर्ट में चुनौती दी। हालांकि उनकी फांसी की सजा को बरकरार रखा गया लेकिन इसमें समय बहुत बर्बाद हुआ। कोर्ट से हाई कोर्ट उसके बाद सुप्रीम कोर्ट और फिर आखिर में राष्ट्रपति के पास दया याचिका पहुंचाना, इन सब में 7 साल का वक़्त लग गया लेकिन सारे आरोपी आज भी सिर्फ कैद में है उन्हें अभी तक फांसी पर नहीं लटकाया गया। इस मामले में पिछली सुनवाई के दौरान निर्भया की मां ने रोते हुए अदालत से पूछा था कि आखिर दोषियों को फांसी कब दी जाएगी क्योंकि एक के बाद एक करके चारों आरोपी राष्ट्रपति के पास दया याचिका पहुंचायेगे तो इसमें केवल और केवल समय ही बर्बाद होगा।

इस जेल में होगी निर्भया के हत्यारों को फांसी, हो गई तैयारी!

निर्भया (Nirbhaya) की मां की बातें सुनकर जज ने सभी आरोपियों को 13 दिसंबर को कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया। अब 13 दिसंबर को चारों आरोपियों की दया याचिका के बारे में उनका पक्ष जाना जाएगा। इसी बीच ऐसी अटकलें भी लगाईं जा रही हैं कि 16 दिसंबर को चारों आरोपियों (Nirbhaya Gang Rape Convicts) को फांसी दी जाएगी। हालांकि अभी तक इस बात की पुष्टि तो नहीं की गई है लेकिन सोशल मीडिया पर इसे लेकर बेहद चर्चा हो रही है। इतना ही नहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार तिहाड़ जेल (Tihad jail) में भी फांसी की तैयारियां की जा रही हैं और फांसी का ट्रायल भी ले लिया गया है। बीते 5 दिसंबर से डॉक्टर भी दिन में दो बार दोषियों के चेकअप के लिए आ रहे हैं। इस बीच खबर मिली है कि फांसी की खबर के बाद से ही चारों आरोपियों की हालत ख़राब हो गई है और वे सदमे में आ गए हैं।

बताया जा रहा है कि दोषियों को फांसी का खौफ इतना ज्यादा है कि उन्होंने खाना-पीना तक कम कर दिया है। जेल में बंद चारों आरोपियों में से केवल मुकेश (Mukesh, one of Nirbhaya Gang Rape Convicts) को छोड़कर बाकी सभी दोषियों का वजन भी कम हो गया है। चारों आरोपियों विनय, पवन, मुकेश और अक्षय ने बाकी कैदियों से बात भी बंद कर दी है और काम पर जाना भी बंद कर दिया है। अब चारों आरोपी अपने सेल में ही गुमसुम और उदास बैठे रहते हैं। चारों दोषियों की सुरक्षा के लिए उनके सेल में 2-2 जवान भी तैनात कर दिए गए हैं।

16 दिसंबर को होगी निर्भया के दरिंदों को फांसी !

Prabhat Jain

Share.