Nirbhaya Case LIVE : दोषियों की फांसी तय, सुप्रीम कोर्ट ने की याचिका खारिज

0

दिल्ली के निर्भयाकांड (Nirbhaya Case LIVE) को सात साल हो गए हैं, लेकिन अभी तक दोषियों को फांसी पर नहीं लटकाया गया। इस मामले में दोषियों में से एक अक्षय ठाकुर(Akshay Kumar Singh) की रिव्यू पिटीशन पर सुप्रीम कोर्ट ने आज बड़ा फैसला सुनाया। जस्टिस भानुमती ने फैसला पढ़ा। जस्टिस भानुमती ने फैसला पढ़ा और कहा कि जांच में कोई कमी नहीं हुई है। कोर्ट ने अक्षय कि याचिका खारिज कर दी।SG तुषार मेहता ने कहा कि ये मामला फांसी का फिट केस है, क्योंकि यह मानवता के खिलाफ हमला था।  इस केस में बिना देरी के तुरंत फैसला करना चाहिए। साथ ही तुषार मेहता ने यह भी कहा कि दोषी किसी तरह की सहानुभूति पाने का हकदार नहीं है, उसे मौत की सजा मिलनी चाहिए।

क्या हुआ कोर्ट में ?

अदालत में हुई सुनवाई के दौरान दोषी अक्षय के वकील ने कहा कि उसे फांसी इसलिए दी जा रही है क्योंकि वह गरीब है। साथ ही वकील ने जांच पर भी सवाल उठाए। सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि दोषी किसी भी रहम का हकदार नहीं है, उसे तुरंत फांसी दी जानी चाहिए।(Nirbhaya Case LIVE)

Simhastha Scam : शिवराज सरकार की कमलनाथ सरकार ने खोली पोल!

अक्षय के वकील ने सुनवाई के दौरान कहा कि जब देश मे इतने लोगों की फांसी लंबित है दया याचिका दाखिल होने के बाद भी तो उनको ही लटकाने की जल्दी और हड़बड़ी क्यों? ये प्रेशर में हो रहा है। वकील ने मुख्य गवाह अमरिंदर पांडे पर सवाल उठाया और कहा कि मामले में उनके सबूत और प्रस्तुतियां अविश्वसनीय हैं।

जयपुर बम धमाकों में 5 आरोपी दोषी करार, 80 लोगों की हुई थी मौत

क्यों बीजेपी के खिलाफ ही बीजेपी के 200 विधायक बैठे धरने पर ?

    – Ranjita Pathare 

 

Share.