Nirbhaya Convicts Death Warrant Petition : निर्भया को दोषियों को फांसी नहीं!

0

Nirbhaya Convicts Death Warrant Petition : निर्भया मामले (Nirbhya Gangrape Case) में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) द्वारा दोषी अक्षय की याचिका को खारिज कर दिया गया, जिसके बाद अब पटियाला काउस कोर्ट ने भी निर्भया के माता-पिता की याचिका पर बड़ा फैसला सुनाया है। कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि हर दोषी को वकील मिलना चाहिए। न्याय के मुद्दे पर पालन होगा। फांसी में कोई दिक्कत नहीं है।  कोर्ट ने अगली सुनवाई सात जनवरी (7 january) तक के लिए टाल दी है। एमिकस क्यूरी (Amicus Curie) ने कोर्ट को कहा कि इस मामले में आपको (जज) कुछ समय लेना चाहिए क्योंकि इस केस में जल्दबाजी के बजाय सही फैसला लेना ज्यादा जरूरी है ।  जेल प्रशासन का कहना है कि दोषी मुकेश (Rapist Mukesh) दया याचिका नहीं देना चाहता है ।  इसके अलावा दोषी विनय (Vinay) अपनी दया याचिका वापस ले चुका है। निर्भया (Nirbhaya) के माता-पिता के वकील ने डेथ वारंट जल्द जारी करने की मांग की है।

Nirbhaya Case LIVE : दोषियों की फांसी तय, सुप्रीम कोर्ट ने की याचिका खारिज

क्या है डेथ वारेंट

Nirbhaya Convicts Death Warrant : कोड ऑफ क्रिमिनल प्रोसीजर-1973, यानी दंड प्रक्रिया संहिता- 1973 (CrPC) के तहत 56 फॉर्म्स होते हैं।  फॉर्म नंबर 42 को डेथ वारंट कहा जाता है। इसके ऊपर ‘वारंट ऑफ एक्जेक्यूशन ऑफ अ सेंटेंस ऑफ डेथ’ (Warrant of execution of a sentence of death) लिखा होता है। इसे ब्लैक वारंट भी कहा जाता है। इसके जारी होने के बाद ही किसी व्यक्ति को फांसी दी जाती है। निर्भया मामले मे भी आज यही उम्मीद कि जा रही थी कि दोषियों के खिलाफ डेथ वारेंट जारी कर दिया जाएगा, लेकिन अब सुनवाई अगले साल 7 जनवरी 2020 तक के लिए टाल दी गई है।

Delhi Nirbhaya case: निर्भया के दरिंदों का होगा अंगदान  ?

#KabTakNirbhaya: 16 दिसंबर की काली रात का इंसाफ अभी भी बाकी है

 

           – Ranjita Pathare 

Share.