विदेश जाने वालों के लिए अनिवार्य हुआ यह नियम

0

विदेश में पढ़ाई और नौकरी का ख्वाब देखने वालों को जल्द ही अब देश छोड़ने से पहले अपना पंजीकरण कराना होगा। फिलहाल इस प्रस्ताव को एमिग्रेशन बिल 2019 के ड्राफ्ट में रखा गया है। अभी इस संबंध में फीडबैक की प्रक्रिया चल रही है। प्रक्रिया पूर्ण होने पर विदेश मंत्रालय द्वारा इस प्रस्ताव को संसद में प्रस्तुत किया जाएगा।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार यह ड्राफ्ट पिछले माह 9 जनवरी को सार्वजनकि किया गया था। वहीं इस प्रस्ताव पर फीडबैक प्रक्रिया चल रही है। फीडबैक के अनुसार इस प्रस्ताव में कुछ बदलाव किए जा सकते हैं। वहीँ सूत्रों ने बताया कि छात्रों या फिर विदेश में नौकरी की चाह रखने वालों के लिए इस प्रक्रिया को सरल बनाया गया है। इस प्रकिया में उन्हें कोई समस्या नहीं आएगी, न ही यह जटिल होगी। सूत्रों ने जानकारी की दी है कि, इस प्रक्रिया को ऑनलाइन रखा जायगा, जिससे देश छोड़ने वाला व्यक्ति ऑनलाइन ही रजिस्ट्रेशन करा सके और उसे आसानी हो। रजिस्ट्रेशन बेहद ही आसान चरणों में पूरा हो जाएगा।

बिल के ड्राफ्ट के अनुसार नौकरी और पढ़ाई के लिए देश छोड़ कर जाने वाले हर व्यक्ति के लिए यह पंजीकरण अनिवार्य होगा। यह प्रक्रिया पूरी तरह ऑनलाइन प्लैटफॉर्म पर होगी। इस मामले में सरकार का कहना है कि अनिवार्य पंजीकरण का उद्देश्य केवल मुश्किल समय में दूसरे देश में रहने वाले अपने नागरिकों तक आसानी से मदद पहुंचाने का है। इस बिल में भर्ती करने वाली एजेंसियों और एजेंट्स का पंजीकरण भी अनिवार्य किया गया है।

फिलहाल मौजूदा समय में कुछ चुनिंदा देशों जैसे यूएई, अफगानिस्तान, बहरेन, इंडोनेशिया, इराक, जॉर्डन, कुवैत, लेबनॉन, लीबिया, मलेशिया, ओमान, कतर, साऊदी अरब, सुडान, साउथ सुडान, सीरिया, थाइलैंड और यमन जाने वाले भारतीयों को ही पंजीकरण अनिवार्य था।

(प्रभात)

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News
Share.