महाराष्ट्र में कांग्रेस संग शिवसेना की सरकार!

0

महाराष्ट्र (Maharashtra Government ) में चल रहा सियासी संग्राम अब खत्म होने वाला है। भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party ) को तगड़ा झटका देते हुए शिवसेना सत्ता की लालच में अब कांग्रेस के साथ सरकार (Shiv Sena government with Congress ) बनाने के लिए तैयार हो है। बस कुछ ही देर में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस के गठबंधन (Shiv Sena-NCP-Congress alliance ) का ऐलान कर दिया जाएगा, जिसके बाद महाराष्ट्र के नए युग की शुरुआत होगी, उस नए युग में अलग-अलग विचारधारा वाले दल एक साथ राज्य पर राज करने  वाले हैं, वो भी बिना अपने सिद्धांतों  से समझौता किए। अब बैठकों का दौर खत्म हो चुका है।

Electoral Bond : कालेधन से चलती है भ्रष्ट कांग्रेस!

महाराष्ट्र में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस की सरकार

महाराष्ट्र की  महाभारत के बीच  गुरुवार देर रात शिवसेना प्रमुख शिवसेना उद्धव ठाकरे और एनसीपी चीफ शरद पवार (Uddhav Thackeray Sharad Pawar Meeting ) की मुलाक़ात हुई। इस बैठक में  शिवसेना के आदित्य ठाकरे (Aaditya Thackeray)  के साथ संजय राउत और एनसीपी के वरिष्ठ नेता अजीत पवार (Senior NCP leader Ajit Pawar ) भी मौजूद थे। सूत्रों का कहना है कि एनसीपी चीफ पवार ने खुद उद्धव  ठाकरे से मिलने की इच्छा जताई थी। इसके बाद अब कहा जा रहा है कि आज शाम तक कांग्रेस-एनसीपी और शिवसेना सरकार गठन की घोषणा हो जाएगी और जल्द ही राज्यपाल के सामने सरकार बनाने का दावा भी पेश कर दिया जाएगा।

इमरान खान ने ट्रंप को किया फोन फिर अलापा कश्मीर राग

शिवसेना का बनेगा राजा!

कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण (Congress Leader Prithviraj Chavan Statement ) पहले ही सरकार बनाने को लेकर संकेत दे चुके हैं। उन्होने नई दिल्ली में कहा था कि उनकी पार्टी और एनसीपी के बीच महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर सभी मुद्दों पर पूरी सहमति है और अब वह गठबंधन की संरचना को पूर्णरूप देने के लिए शिवसेना से बातचीत करेंगे। आगे की बातचीत अब मुंबई में होगी जहां कांग्रेस और एनसीपी अपने सहयोगी दलों से बात करेंगे। शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत (Shiv Sena Senior Leader Sanjay Raut ) ने गुरुवार को कहा था कि जल्द ही कांग्रेस-एनसीपी और शिवसेना के नेता राज्‍यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलने जाएंगे। सूत्रों का कहना है कि तीनों दलों के बीच सब कुछ तय हो गया है। ऐसा कहा जा रहा है कि शिवसेना के उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाया जाएगा तथा आदित्य ठाकरे को मंत्री पद दिया जाएगा। वहीं कांग्रेस और एनसीपी से एक-एक डिप्टी सीएम बनाया जाएगा।

टोल प्लाजा पर रुकना जरूरी नहीं – नितिन गडकरी

   – Ranjita Pathare 

 

 

 

Share.