एनसीपी और कांग्रेस ने बढ़ाई शिवसेना की मुसीबत!

0

महाराष्ट्र (Maharashtra ) की राजनीति में सियासी उथल-पुथल जारी जारी है। नई सरकार बनाने (Maharashtra Government Formation ) को लेकर चल रहे इस युद्ध में अभी तक किसी का भी पलड़ा भारी नहीं हो पाया है। भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party ) और शिवसेना (Shiv Sena ) के लाखों दावों के बाद भी किसी भी किसी भी पार्टी ने अभी तक सरकार बनाने की कोशिश नहीं की है। वहीं एनसीपी (Nationalist Congress Party ) के साथ के भरोसे बैठी शिवसेना की अब एनसीपी (NCP) और कांग्रेस (Indian National Congress) ने परेशानी बढ़ा दी है। इसके बाद भाजपा (BJP) ने राहत की सांस ली है।

दिल्ली नहीं ये हैं देश के सबसे प्रदूषित शहर

एनसीपी-कांग्रेस ने बढ़ाई शिवसेना की मुसीबत!

शिवसेना (Shiv Sena) और बीजेपी (BJP) अपनी-अपनी शर्तों पर अड़ी है। इसी बीच यह कहा जा रहा था कि शिवसेना कांग्रेस और एनसीपी के समर्थन के साथ सरकार बनाने का दावा पेश करेंगी, लेकिन अब एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने साफ कर दिया है कि वे शिवसेना के साथ गठबंधन की सरकार नहीं बना रहे हैं। शरद पवार ने सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में नई तस्वीर सामने आई। शरद पवार का कहना है कि जिनके पास नंबर है वो सरकार बनाए। सरकार बनाने के लिए हमारे पास पर्याप्त संख्या नहीं है। बीजेपी और शिवसेना दोनों मजबूत सहयोगी रहे हैं। लोगों ने हमें विपक्ष में बैठने का जनादेश दिया है। न तो हमने शिवसेना से बात की है और न ही उन्होंने हमसे।

LIC की पॉलिसी कराने वालों के लिए बड़ी खबर

भारतीय जनता पार्टी को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में 105 सीटें, शिवसेना को 56, एनसीपी ने 54 और कांग्रेस ने 44 सीटें मिली हैं। कांग्रेसी नेताओं का कहना है कि सेना को बीजेपी के साथ अपने गठबंधन से बाहर आना होगा। इसके बाद ही उनकी पार्टी किसी तरह के गठबंधन के बारे में विचार कर सकती है। एनसीपी का कहना है कि वे विपक्ष कि राजनीति करना चाहते हैं। वहीं बीजेपी ने शिवसेना को मंत्रिमंडल में 16 पद के साथ ही वित्त और राजस्व विभाग देने कि बात कही है।

एनसीपी और कांग्रेस ने बढ़ाई शिवसेना की मुसीबत!

    – Ranjita Pathare 

Share.