NCP और कांग्रेस ने शिवसेना की उम्मीदों पर फेरा पानी

0

महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Elections  2019 ) को एक सप्ताह से अधिक समय बीत गया है, लेकिन अभी तक सरकार बनाने का रास्ता साफ नहीं हुआ है। 288 विधानसभा सीटों पर हुए चुनाव में भाजपा (B J P) बहुमत से कोसों दूर हैं, लेकिन फिर भी वे अपनी पार्टी के नए मुख्यमंत्री की शपथ ग्रहण (Chief Minister’s swearing in ceremony) की तैयारियों में जुट गई है वहीं शिवसेना (Shiv Sena ) अभी भी अपना 50-50 वाला राग ही अलाप रही है। बीजेपी ने 105 सीटें जीती हैं, तो उसकी गठबंधन सहयोगी शिवसेना को 56 सीटों पर जीत मिली है। शिवसेना कांग्रेस (Congress ) और एनसीपी (NCP) के साथ गठबंधन की सरकार बनाने पर विचार कर रही थी, लेकिन अब उसकी उम्मीदरों पर पानी फिर गया है, जिसके बाद अब कहा जा रहा है कि उसे मजबूरी में भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party ) का ही साथ देना पड़ेगा।

सैन्य ठिकाने पर आतंकवादी हमला, 53 सैनिकों की मौत

विधानसभा चुनाव के परिणाम (Assembly election results ) आने के बाद से ही महाराष्ट्र की राजनीति में चुनावी दंगल देखने को मिल रहा है। परिणाम आने के बाद कांग्रेस की ओर से शिवसेना (Shiv Sena) के साथ गठबंधन की सरकार बनाने की काफी कोशीशे की गई, लेकिन इसके लिए शरद पवार की एनपीसी की सहमति नहीं मिलने के कारण कांग्रेस शिवसेना के साथ सरकार नहीं बना पाएगी। इससे शिवसेना के सपनों पर पानी फिर गया है (Maharashtra Election 2019)। शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने अपने बेटे आदित्य ठाकरे को मुख्यमंत्री की शपथ लेते देखने की उम्मीद अभी तक नहीं छोड़ी है, तो दूसरी तरफ बीजेपी सरकार बनाने को लेकर बेसब्र हो रही है।

इमरान खान को इस्तीफे के लिए दो दिन का वक्त

भाजपा के शपथ ग्रहण की तैयारी

शिवसेना का साथ नहीं मिलने और बहुमत हासिल नहीं करने के बावजूद भी भाजपा अपने शपथ ग्रहण की तैयारियों में जुट गई है। ऐसा कहा जा रहा है कि इसके लिए 5 नवंबर का दिन तय किया गया है। इसके साथ ही शपथ ग्रहण समारोह के लिए वानखेड़े स्टेडियम भी बुक कर दिया है, लेकिन अभी तक बीसीसीआई की इजाजत नहीं मिल पाई है।

शिवसेना को धमका रही भाजपा!

     – Ranjita Pathare

 

Share.