भाजपा ‘USE AND THROW’ की नीति अपना रही: शिवसेना

0

मुंबई: महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद सरकार के गठन को लेकर शिवसेना(Shiv Sena) और भाजपा (BJP) में घमासान मचा हुआ है। शिवसेना जहाँ बराबर ही भागीदारी चाह रही है वही भाजपा इस प्रस्ताव को ठुकरा रही है। और आये दिन दोनों पार्टी के नेताओ की तरफ से लगातार बयानों की बौछार की जा रही है। इसी बीच शिवसेना ने सख्त लहजे में भाजपा पर आरोप लगाया कि पार्टी अपने गठबंधन साझेदारों के साथ ‘इस्तेमाल करो और छोड़ दो’ (Use And Throw) की नीति अपना रही है.शिवसेना ने महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्री (CM) पद पर अपना दावा नहीं छोड़ने का संकेत देते हुए गुरुवार को कहा कि सत्ता के समान बंटवारे का मतलब निश्चित रूप से शीर्ष पद की साझेदारी भी है।

शिवसेना के मुखपत्र सामना के एक संपादकीय में कहा गया है कि लोकसभा चुनाव से पहले दोनों दलों के बीच गठबंधन होने के समय जो तय हुआ था, उसे लागू करना चाहिए. इसमें कहा गया, ‘महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने उस प्रेस कांफ्रेंस में कहा था कि सभी सरकारी पद समान रूप से साझा किए जाएंगे.’ शिवसेना ने कहा, ‘अगर मुख्यमंत्री का पद इसके तहत नहीं आता है तो हमें राजनीतिक विज्ञान का पाठ्यक्रम दोबारा लिखने की जरूरत है.’ संपादकीय में लिखा गया है, ‘2014 के लोकसभा चुनावों में शानदार प्रदर्शन करने के बाद भाजपा ने शिवसेना से राह अलग कर ली और पार्टी ‘इस्तेमाल करो और छोड़ दो’ के आधार पर चलना चाहती है.’ इसमें कहा गया है, ‘लेकिन हम आसानी से खत्म नहीं होंगे क्योंकि हमारे पास जनता का समर्थन है.’

-Mradul tripathi

Share.