मुंह चलाने और सरकार चलाने में होता है अंतर कमलनाथ

0

(Kamal Nath Statement) मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार (Madhya Pradesh Kamal Nath Government ) ने जहां एक ओर गुंडों की सफाई का अभियान चला रखा है वहीं दूसरी ओर बीजेपी (BJP) को भी आईना दिखाने से पीछे नहीं हट रही है। प्रदेश की संसद में किसानों को गेहूं की फसल पर बोनस देने की विपक्ष की मांग को लेकर जबर्दस्त हंगामा हुआ, जिसके बाद कार्रवाई स्थगित करनी पड़ी। बीजेपी के नेता बार-बार बोनस की घोषणा करने की मांग कर रहे हैं, जिसके बाद सीएम कमलनाथ ने उन पर निशाना साधते हुए बयान दिया है।

मप्र की जनता के लिए कमलनाथ सरकार की बड़ी घोषणा!

सीएम कमलनाथ (CM Kamal Nath statement) ने कहा कि सरकार चलाने और मुंह चलाने में अंतर होता है। सरकार मुंह चलाने से नहीं चलती। बजट में बोनस का प्रावधान नहीं किया गया है, क्योंकि केन्द्र सरकार ने 60 लाख टन खरीदी यह करते हुए घटा दी थी कि प्रदेश सरकार ने किसानों को बोनस दिया है। ऐसे में हम बोनस का प्रावधान कर देते तो केन्द्र खरीदी घटा देता। प्रदेश से 28 सांसद है, इनमें से किसी एक ने भी ये विषय लोकसभा में उठाया क्या।

Simhastha Scam : शिवराज सरकार की कमलनाथ सरकार ने खोली पोल!

सीएम कमलनाथ (CM Kamal Nath Statement) कि भाषण के बाद पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर निशाना साधा (Former CM Shivraj Singh Chauhan targeted Congress)। उन्होने कहा कि हमने भी सरकार ही चलाई है मुंह नहीं चलाया। इसके बाद नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि यह विपक्षी की सदस्यों की अभिव्यक्ति की आजादी पर हमला है, हमारी आवाज बंद करने की कोशिश की जा रही है, यह बर्दाष्त नहीं किया जा सकता है। हमारी सरकार ने किसानों को गेहूं पर बोनस दिया था, क्या सरकार किसानों को 160 रुपए प्रति क्विंटल बोनस देने की घोषणा करेगी। राजस्व मंत्री गोविदं सिंह ने कहा कि अभी तक राज्य सरकार ने 70 करोड का मुआवजा किसानों को बांट दिया है। आरबीसी के प्रावधानों के तहत सर्वे किया गया है, जहां-जहां नुकसान हुआ है वहां 25 प्रतिशत के हिसाब से मुआवजा दिया जा रहा है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि ना तो बजट में और ना पूरक बजट में इसका प्रावधान है किसानों को गुमराह किया जा रहा है। बोनस नहीं दे रहे हैं और लगातार झूठ बोल रहे हैं, इस बयान के बाद संसद में जमकर हंगामा हुआ ।

गंगा मईया से झूठ बोले इसलिए गिरे पीएम मोदी: कमलनाथ के मंत्री

           – Ranjita Pathare 

 

 

 

Share.