website counter widget

यातायात नियमों की अनदेखी करने पर भारी ज़ुर्माने का प्रावधान

0

वर्तमान समय में देश में सड़क हादसों के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं| आए दिन सड़क हादसों के समाचार पढ़ने–सुनने को मिल जाते हैं| इन हादसों का प्रमुख कारण अंधाधुंध गति से वाहन चलाना, यातायात नियमों का पालन न करना, शराब पीकर वाहन चलाना है| इन हादसों पर लगाम लगने के लिए सरकार ने 24 जून को मोटर व्हिकल (संशोधन) विधेयक को मंजूरी (Provision of heavy penalty for ignoring traffic rules) दे दी है| इस विधेयक में यातायात नियमों की अनदेखी करने पर भारी ज़ुर्माने का प्रावधान किया गया है|

बच्ची से दुष्कर्म की कोशिश करने वाले को ग्रामीणों ने दी शर्मनाक सज़ा

नए नियमों के अनुसार, नशे में गाड़ी चलाने पर 10 हजार रुपए का जुर्माना लगाने का प्रावधान किया गया है वहीं इमरजेंसी गाड़ियों जैसे एम्बुलेंस या दमकल गाड़ी को रास्ता न देने पर भी 10 हज़ार रुपए तक का जुर्माना (Provision of heavy penalty for ignoring traffic rules) लगेगा| इसके अलावा यदि किसी का लाइसेंस रद्द कर दिया गया है और वह इसके बावजूद गाड़ी चला रहा है तो भी 10 हज़ार तक चुकाने पड़ सकते हैं|

यह विधेयक 16वीं लोकसभा में भी पारित हो गया था| बाद में इसे राज्यसभा में भेजा गया, लेकिन वहां इसे मंजूरी नहीं मिल पाई इसलिए यह विधेयक निरस्त हो गया था परन्तु इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली कैबिनेट ने मोटर व्हिकल (संशोधन) विधेयक (Provision of heavy penalty for ignoring traffic rules) को मंजूरी दे दी है|

यहां होगी बैंकिंग से जुड़ी हर कंप्लेंट पर त्वरित सुनवाई

इस बिल में ये सख्त प्रावधान किए गए

सड़क सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए 18 साल से कम उम्र में ड्राइव करने, बिना लाइसेंस के ड्राइविंग, ख़तरनाक तरीके से ड्राइविंग, शराब पीकर गाड़ी चलाने, ओवर-स्पीडिंग और ओवरलोडिंग जैसे अपराधों के लिए सख्त प्रावधान होंगे| इन प्रस्तावित नियमों को 18 राज्यों के परिवहन मंत्रियों की सिफारिशों के बाद फ्रेम किया गया है| जिसे बाद में संसद की स्थायी समिति ने जांचा था| क्या है इस (Provision of heavy penalty for ignoring traffic rules) विधेयक में, क्रमवार जानते हैं|

नए कानून में ओवर-स्पीडिंग के लिए 1 हज़ार से 2 हजार रुपए तक जुर्माना लगाने का प्रावधान है|

# बिना बीमा के गाड़ी चलाने पर 2 हजार तक का जुर्माना लग सकता है|

# इस बिल में 18 साल से कम उम्र में वाहन चलाने पर अगर किसी कानून की अवहेलना होती है तो जिम्मेदारी अभिभावक या गाड़ी के मालिक की होगी| नए प्रावधानों के मुताबिक ऐसे मामलों में अभिभावक या मालिक को दोषी माना जाएगा, वाहन का रजिस्ट्रेशन रद्द होगा, 25 हजार का जुर्माना और तीन साल की कैद भी हो सकती है|

50 खतरनाक बम के बाद, अब बंगाल से पकड़ाए ISIS संदिग्ध

# ट्रैफ़िक नियमों का उल्लंघन करने पर अब 100 की जगह 500 रुपये का जुर्माना लगेगा| वहीं अधिकारियों की के आदेशों की अवहेलना करने पर 2 हजार का जुर्माना लगेगा| ये पहले 500 रुपए हुआ करता था|

बिना लाइसेंस के वाहन चलाने वालों को 5 हजार का जुर्माना (Provision of heavy penalty for ignoring traffic rules) लगेगा| साथ ही अयोग्य घोषित होने के बाद भी जो लोग ड्राइविंग करते पाए गए, उन पर 10 हजार का जुर्माना लगेगा|

# बिना लाइसेंस वाहनों का अनधिकृत उपयोग करने के लिए 5 हजार का जुर्माना लगाने का प्रावधान|

# खतरनाक तरीके से गाड़ी चलाने पर पहले लगने वाले 1 हजार के जुर्माने की जगह अब 5 हजार का जुर्माना लगेगा|

ओवरलोडिंग करने पर 20 हजार का जुर्माना लगाने का प्रावधान|

# और अब सबसे कॉमन क्राइम की सज़ा जान लीजिए| अगर गाड़ी चलाते वक्त सीट बेल्ट नहीं पहनी तो 1 हजार का जुर्माना (Provision of heavy penalty for ignoring traffic rules) लगेगा और दोपहिया चालक अगर हेलमेट नहीं पहनते हैं तो अब 1 हजार का जुर्माना लगेगा| इसके अलावा लाइसेंस को तीन महीने के लिए रद्द भी किया जा सकता है|

एक अच्छी बात इस विधेयक में जोड़ी गई है, जिसका सभी लोग स्वागत करेंगे| प्रस्तावित विधेयक के मुताबिक ड्राइविंग की ट्रेनिंग को और भी मजबूत किया जाएगा| जैसे सड़क दुर्घटना पीड़ितों की मदद या दिशा-निर्देशों (Provision of heavy penalty for ignoring traffic rules) की अच्छी समझ देने की कोशिश की जाएगी| अच्छी समझ रखने वालों को लाइसेंस इशू किया जाएगा|

सरकार की कोशिश रहेगी कि नई लोकसभा के पहले ही सेशन में यह बिल पास हो जाए| इसके लिए सरकार को राज्यसभा में भी समर्थन जुटाना होगा|

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.