मोहन भागवत ने कहा- यदि बोला तो जाएगी नौकरी

0

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत अपनी कट्टरवादी विचारधारा के लिए जाने जाते हैं| संघ प्रमुख के बयान भी सुर्ख़ियों में रहते हैं| ऐसे में भागवत ने एक ऐसी बात कह डाली, जो एक बार फिर सवालों के घेरे में है|

संघ प्रमुख भागवत अखिल  भारतीय प्रांत प्रचारकों की सालाना बैठक में शामिल होने राजकोट पहुंचे| राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत से एयरपोर्ट पर पत्रकारों ने जब सवाल पूछना चाहा तो भागवत ने जवाब दिया कि यदि बोला तो मेरी नौकरी चली जाएगी|

दरअसल, 15 से 17 जुलाई तक अखिल भारतीय प्रांत प्रचारकों की तीन दिवसीय सालाना बैठक गुजरात के सोमनाथ में होने वाली है| इसके मद्देनज़र संघ प्रमुख मोहन भागवत 12 से 18 जुलाई तक सोमनाथ में रहेंगे| इसी बैठक में शामिल होने जब संघ प्रमुख मोहन भागवत, संघ के प्रचार प्रमुख और सह सरकार्यवाह मनमोहन वैद्य के साथ राजकोट एयरपोर्ट पर पहुंचे, तब पत्रकारों के सवाल पर उन्होंने बोलने पर नौकरी जाने की बात कही|

अब संघ प्रमुख के इस बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं| गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी के शासनकाल में संघ प्रमुख के ये बयान सरकार की पारदर्शिता पर सवाल खड़े करते हैं|

Share.