मोदी सरकार की किसानों को सौगात

0

2019 के लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार ने किसानों को बड़ा तोहफा दिया है| कैबिनेट की बैठक में किसानों के हित में बड़ा फैसला लेते हुए सरकार ने 14 फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी कर दी है| केंद्र ने धान के समर्थन मूल्य में 200 रुपए का इज़ाफा कर दिया है| केंद्र की मोदी सरकार ने धान, दाल और मक्का जैसी ख़रीफ़ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य लागत का डेढ़ गुना करने का फैसला लिया है|

किसानों के लिए फसलों पर 50 फीसदी मुनाफा देने के मकसद से इस बार न्यूनतम समर्थन मूल्य में रिकॉर्ड बढ़ोतरी का फैसला लिया गया है| अनाज की लागत के आकलन के लिए ए2+एफएल फॉर्मूला अपनाया जाएगा| ए2+एफएल फॉर्मूले में फसल की बुआई पर होने वाले कुल खर्च और परिवार के सदस्यों की मजदूरी शामिल होगी|

कैबिनेट के फैसले की जानकारी देते हुए गृहमंत्री राजनाथसिंह ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि किसानों को अब ख़रीफ की फसल का डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य तय किया गया है| राजनाथ ने कहा कि किसानों को फसल की सही कीमत मिलेगी| अब धान की फसल पर न्यूनतम समर्थन मूल्य 1750 रुपए प्रति क्विंटल कर दिया गया है| पिछले साल यह 1550 रुपए थी| बाजरे की लागत पहले 990 रुपए होती थी, लेकिन इसे अब 1950 रुपए प्रति क्विंटल कर दिया गया है|

Share.