मोदीजी की नज़र अब आपके गहनों पर, होने वाली है बड़ी घोषणा

0

मोदी सरकार (Modi government ) ने रातों-रात देश में नोटबंदी (Demonetisation)  लागू कर दी थी, जिसके बाद लोगों की नींद उड़ गई थी। नोटबंदी के बाद देश में हाहाकार मच गया था। सभी अपने पास मौजूद 500 और 1000 के नोटों को बदलने के लिए लंबी लाइन में लगे थे। अब वैसा ही फिर होने वाला है, लेकिन इस बार सरकार की नजर आपके नोटों पर नहीं बल्कि गहनों पर है। सरकार जल्द ही गहनों को लेकर भी नोटबंदी जैसा बड़ा फैसला ले सकती है। ऐसा सरकार कालेधन पर लगाम लगाने के लिए करने जा रही है।

काले धन से सोना खरीदना मुश्किल

सरकार अब काला धन से सोना (Gold) खरीदने वालों  पर लगाम लगाने के लिए खास स्कीम लाने जा रही है। ऐसा कहा जा रहा है कि सरकार इनकम टैक्स (Income Tax) की एमनेस्टी स्कीम (Amnesty scheme ) के तर्ज पर सोने के लिए नई एमनेस्टी स्कीम (Amnesty Scheme) ला सकती है। इस स्कीम के लागू होने के बाद एक तय मात्रा से ज्यादा बगैर रसीद वाले गोल्ड होने पर उसकी जानकारी देनी होगी और गोल्ड की कीमत सरकार को बतानी होगी।

जानिए कैसे तय होगा कर

एमनेस्टी स्कीम लाने के बाद गोल्ड की कीमत तय करने के लिए वैल्यूएशन सेंटर से सर्टिफिकेट लेना होगा। यदि आपके पास उसकि रसीद नहीं मिली तो उसके लिए आपको एक तय मात्रा में टैक्स देना होगा। सरकार इस स्कीम को कुछ समय के लिए ही लेकर आ रही है। यदि किसी व्यक्ति के पास बिना रसीद का ज्यादा सोना मिला तो उसे भारी जुर्माने का भुगतान करना होगा। इस स्कीम में मंदिर और ट्रस्ट के पास के सोने के लिए भी विशेष प्रावधान लाया जाएगा। वहीं एमनेस्टी स्कीम के साथ-साथ गोल्ड को एसेट क्लास के तौर पर बढ़ावा देने के भी ऐलान हो सकते हैं। यह भी कहा जा रहा है कि वित्त मंत्रालय के इकोनॉमिक अफेयर्स विभाग और राजस्व विभाग ने मिलकर इस स्कीम का ड्राफ्ट तैयार कर लिया है। वित्त मंत्रालय ने अपना प्रस्ताव कैबिनेट के पास भेजा है, जिस पर जल्द ही कैबिनेट की मंजूरी मिलने की संभावना जताई जा रही है।

       – Ranjita Pathare

Share.