अब नहीं बिकेगी ई-सिगरेट!

0

देश में अब ई-सिगरेट की बिक्री पर जल्द ही रोक लगने वाली है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अध्यक्षता में आज (18 सितंबर) हुई बैठक में कैबिनेट में कई बड़े फैसले लिए गए, जिनमें  ई-सिगरेट (E-Cigrattee) पर पाबंदी का भी फैसला लिया गया। सरकार ने ई-सिगरेट इसके निर्माण, वितरण, बिक्री पर पूरी तरह से बैन लगा दिया है।

ऑक्‍सफोर्ड डिक्‍शनरी ने ‘Woman’ का मतलब बताया ‘Bitch’

वित्त मंत्री निर्मला सितारमण ने जानकारी दी और बताया कि ई-सिगरेट 150 से ज्यादा फ्लेवर्स में मिलती है, ऐसे दिखाया जाता है जैसे इसके माध्यम से सिगरेट छोड़ने में आसानी होती है, जबकि अध्ययन से खुलासा हुआ है कि इसके माध्यम से सिगरेट की आदत को बढ़ावा मिलता है। ई सिगरेट का सेवन करने से व्यक्ति को डिप्रेशन होने की संभावना दोगुनी हो जाती है। इसके सेवन से हार्ट अटैक का खतरा 56 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। वहीं यदि इसकी लत लग जाती है तो  ब्लड क्लॉट की समस्या भी उत्पन्न हो सकती है।

भारत मे आतंकवाद के पीछे पाकिस्तान : European Union

सदन में पास किया जाएगा बिल

ई-सिगरेट पर बैन लगाने के लिए सबसे पहले अध्यादेश पारित किया जाएगा। इसके बाद अध्यादेश को अगर राष्ट्रपति की मंजूरी मिलती है तो इसे संसद के अगले सत्र में प्रस्तुत किया जाएगा। वित्‍त मंत्री ने प्रेस कांफ्रेस के दौरान कहा कि ‘ई-सिगरेट ऑर्डिनेंस 2019’ पर  मंत्रियों के समूह ने कुछ समय पहले ही विमर्श किया था। ऑर्डिनेंस के ड्रॉफ्ट में स्‍वास्‍थ मंत्रालय ने प्रस्‍ताव दिया था कि पहली बार कानून का उल्‍लंघन करने वालों पर एक लाख रुपये का जुर्माना और एक साल की सजा का प्रावधान हो। इसी के साथ कई अन्य भी फैसले लिए गए हैं। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावेडकर ने बताया कि सरकार ने 11 लाख रेलवे कर्मचारियों को बोनस के रूप में मिलेगा 78 दिनों का वेतन देने का फैसला किया है। रेलवे कर्मचारियों को 78 दिनों का वेतन बोनस के तौर पर दिया जाएगा। इससे 11 लाख कर्मचारियों को फायदा होगा। वहीं पीएम मोदी ने 15 अगस्त को लाल किले के प्राचीर से सिंगल-यूज प्लास्टिक पर पूरी तरह से बैन लागने की बात कह चुके हैं।

कांग्रेस पर फूटा मायावती का गुस्सा कहा…

 – रंजीता पठारे

Share.