तो क्या बंद होने जा रहे हैं सभी वाहन!

0

वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए यह फैसला लिया गया है कि एक अप्रैल 2020 से देश में केवल बीएस-6 वाहन ही आपको मिलेंगे| यह बात पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने सुप्रीम कोर्ट से कही है| इसी के साथ हो सकता है कि बीएस-6 वाहन की नम्बर प्लेट के रंग भी बदल जाएं|

सुप्रीम कोर्ट के न्यायमूर्ति मदन बी.लोकुर और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने ‘इप्का’ से पूछा कि क्या पेट्रोल-डीज़ल बीएस-3,4 और 6 के लिए अलग-अलग रंग के स्टीकर जारी किए जा सकते हैं, जिससे यह पता चले कि ये कौन सी गाड़ियां हैं| कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा भी कि क्या बीएस-3,4,6 के लिए अलग-अलग नंबर प्लेट होनी चाहिए ताकि उनकी आसानी से पहचान हो सके| कोर्ट ने यह भी कहा कि इसकी शुरुआत बीएस-6 से की जाए|

कोर्ट ने कहा कि बीएस-6 वाहनों की नंबर प्लेट का अलग रंग हो, जिससे इसकी पहचान हो सके| केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट को भरोसा दिलाया कि इस सुझाव पर वह काम करेगा और कोर्ट को बताएगा| पेट्रोलियम मिनिस्ट्री ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि देशभर में एक अप्रैल 2020 से बाजार में केवल बीएस-6 वाहन ही बिकेंगे| जो गाड़ियां BS-6 नहीं होंगी, वे 31 मार्च तक ही बिक सकेंगी|

केन्द्र सरकार ने कोर्ट से कहा कि एक अप्रैल  2020 से देश में बीएस-6 ईंधन के मानकों के बिना ही वाहनों के निर्माण और उनकी बिक्री की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए| केन्द्र की ओर से अतिरिक्त सॉलिसीटर जनरल एएनएस नाडकर्णी ने कहा कि बीएस-6  ईंधन पर 28,000 करोड़ रुपए का निवेश किया जा चुका है|

उन्होंने कहा कि यदि एक अप्रैल 2020 से बीएस-6 ईंधन के मानकों का पालन नहीं करने वाले वाहनों के निर्माण और बिक्री की अनुमति दी गई तो स्वच्छ ईंधन के पर्यावरण लाभ मामूली हो सकते हैं|

ये ख़बरें भी पढ़ें

नहीं देखी होगी अपने ऐसी कार, कीमत भी जानें

सिर्फ एक पहिये पर चलती है यह बाइक

भारत में लॉन्च हुआ अनोखा स्कूटर

Share.