महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला को किया गया गिरफ्तार

0

कश्मीर से धारा 370 खत्म हो गई है। राज्यसभा में धारा 370 हटाने का प्रस्ताव पास हो गया है। इसके बाद से पूरे देश में जश्न का माहौल है। सिर्फ देश ही नहीं कश्मीर में भी जश्न मनाया जा रहा है। राज्यसभा में बिल पास होने के बाद सभी सांसदों में गृहमंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री मोदी को बधाई दी। वहीं कश्मीर में पीडीपी (PDP) की नेता और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती (Mehbooba Mufti) और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) को नज़रबंद किया गया था।

गौरतलब है कि नज़रबंद किए गए दोनों नेताओं को हिरासत में ले लिया गया है। महबूबा मुफ़्ती (Mehbooba Mufti) और उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) को हिरासत में ले लिया गया। इन दोनों नेताओं के साथ अन्य कई नेताओं को भी गिरफ़्तार किया गया है। धारा 370 हटाने को लेकर महबूबा मुफ़्ती भारत सरकार को पहले भी चेतावनी दे चुकी हैं। महबूबा मुफ़्ती ने कहा था कि अगर कश्मीर से धारा 370 हटाई गई तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। इससे पहले दोनों को रविवार-सोमवार की देर रात ही दोनों को नजरबंद कर दिया गया था।

दोनों नेताओं को गिरफ्तार कर उनके आवास से गेस्ट हाउस ले जाया गया है, जहां उन्हें कुछ समय रखा जाएगा। गौरतलब है कि किसी भी तरह की अप्रिय घटना से बचने के लिए जम्मू-कश्मीर में भारी तादात में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है। इसके अलावा पूरे जम्मू-कश्मीर में धारा 144 लागू कर दी गई है। बताया जा रहा है जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट और केबल टीवी नेटवर्क व्यवस्था को भी रोक दिया गया है। जानकारी के लिए बता दें कि जब अमित शाह ने संसद में धारा 370 को हटाने का प्रस्ताव पेश किया था तब महबूबा मुफ़्ती ने ट्वीट कर लिखा था कि, “आज का दिन भारतीय लोकतंत्र के इतिहास का सबसे काला दिन है। आज 1947 की तत्कालीन जम्मू-कश्मीर सरकार द्वारा ‘टू नेशन थ्योरी’ को रिजेक्ट करने का फैसला गलत साबित हुआ है। सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 को खत्म करने का फैसला पूरी तरह से अवैध और असंवैधानिक है।”

Share.