मौलाना ने महिला हेड कांस्टेबल को बनाया हैवानियत का शिकार

0

देश में दुष्कर्म  (Rape ) और छेड़छाड़ जैसे मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। साधु, सन्यासी, मौलाना के जैसे लोग, जो जीवन में सन्यास को अपना लेते हैं ऐसे लोगों के नाम दुष्कर्म जैसे मामलों में ज्यादा सामने आ रहे हैं। अब बागपत (Baghpat ) से भी ऐसा ही मामला सामने आया है, जिसमें एक मौलाना ने महिला हेड कांस्टेबल (Female head constable ) को अंधविश्वास में लेकर उसके साथ हैवानिय की।

जानकारी के अनुसार, बागपत के थाने में तैनात महिला हेड कांस्टेबल बेटे के इलाज व घर की सुख शांति के लिए एक पाखंडी मौलाना के जाल में फंस गई। पाखंडी मौलाना ने महिला कांस्टेबल से लाखों रुपये भी ऐंठ लिए। मौलाना महिला को बेटे की मौत की चेतावनी देकर शारीरिक संबंध बनाता रहा। जब मौलाना ऐसा बार-बार करने लगा तो उससे परेशान होकर पीड़िता ने उसके खिलाफ महिला थाने में दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज कराई। मामला सामने आने के बाद से ही आरोपी फरार हो गया।

बिजनौर जनपद निवासी महिला बागपत के एक थाने में हेड कांस्टेबल के पद पर कार्यरत है। महिला के पति की मृत्यु होने के बाद 2006 में उसे नौकरी दी गई थी। इसके बाद 29 जून 2018 को महिला का बेटा घायल हो गया था, जिसका कई महीनों तक आईसीयू में इलाज किया। तभी महिला को किसी ने मौलाना से इलाज करवाने की सलाह दी। 30 जुलाई 18 को वह मोमीन मस्जिद के मौलाना जुबैर के पास गई और मौलाना ने महिला को रात में बुलाया।

मौलाना ने खुद को जिन बताकर महिला के साथ दुष्कर्म किया । इसके बाद मौलाना कई बार बेटे की मौत की चेतावनी देकर कांस्टेबल को डरता रहा और उसके साथ दुष्कर्म करता रहा। ऐसा करीब एक साल तक चलता रहा। महिला का कहना है कि मौलाना उसे घर आकार भी परेशान करता है। मामले में एसपी प्रताप गोपेन्द्र यादव का कहना है कि महिला हेड कास्टेबल की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

      – Ranjita Pathare

 

 

Share.