website counter widget

हादसे के वक़्त ये छोटी सी गलती बनती है मौत का कारण

0

देश में सड़क हादसों (Road Accident) की संख्या में दिन-प्रतिदिन इजाफा होता जा रहा है। एक आंकड़े के अनुसार राजधानी दिल्ली में लगभग 1600 लोग प्रतिवर्ष सड़क हादसे में अपनी जान गंवा देते हैं। देश भर में जितने भी सड़क हादसे होते हैं उनमें से 80 प्रतिशत हादसे चालाक (Driver) की लापरवाही या गलती की वजह से होते हैं। इन सड़क हादसों के पीछे सबसे बड़ी वजह है सीट बेल्ट (Seat Belt) का इस्तमाल न करना। जी हां सुनकर थोड़ा हैरानी जरूर होगी लेकिन यह बेहद ही महत्वपूर्ण बात है। क्योंकि कोई भी वाहन निर्माता कंपनी उपभोक्ताओं की सुरक्षा का बेहद ज्यादा ध्यान रखती है और इसी वजह से वह अपने वाहनों में हर तरह के सुरक्षा फीचर्स (safety features) का इस्तमाल करती है।

लगातार बढ़ रहे हादसों को लेकर सभी वाहन निर्माता कंपनियां अपने वाहनों में स्टैंडर्ड सेफ्टी फीचर्स (safety features) को बढ़ा रही हैं। सरकार की तरफ से भी नए सेफ्टी स्टेंडर्ड लागू कर दिए गए हैं और सभी कंपनियों को डेड लाइन भी दे दी गई है। लेकिन इन सेफ्टी स्टेंडर्ड का कोई फायदा नहीं क्योंकि इन सभी सुरक्षा नियमों के बावजूद लोग लापरवाही बरतते हैं और हादसे का शिकार हो जाते हैं।

देश की अग्रणी वाहन निर्माता कंपनी मारुती सुज़ुकी (Maruti Suzuki) ने सीट बेल्ट को लेकर एक सर्वे किया जिसमें सबसे ज्यादा हैरान करने वाली बात सामने आई है। तो चलिए जानते है कि मारुती कंपनी (Maruti Suzuki) के द्वारा किए गए सर्वे के बारे में।

कंपनी द्वारा किए सर्वे में 40 प्रतिशत लोगों ने माना कि सीट बेल्ट लगाने से उनकी छवि पर असर पड़ता है। मतलब इससे उनकी इमेज ख़राब हो जाती है। वहीं लोगों का कहना है जो लोग डरपोक किस्म के होते हैं वे ही सीट बेल्ट का इस्तमाल करते हैं।  इतना ही नहीं 34 प्रतिशत लोगों ने कहा कि उन्हें यह बिल्कुल भी नहीं लगता कि दुर्घटना होने पर सीट बेल्ट बचाव कर सकता है। यह सब तो आम बात थी जो अमूमन देखने को मिल जाती है। लेकिन इस सर्वे में सबसे हैरान कर देने वाली बात यह देखने को मिली कि सर्वे में शामिल अधिकतर लोगों को तो यह जानकारी ही नहीं कि सीट बेल्ट का इस्तमाल आखिर किया कैसे जाता है। कई लोगों को सीट बेल्ट पसंद नहीं तो कई लोगों कहना है कि इससे कपड़ों पर सलवटें पड़ जाती हैं।

वहीं सीट बेल्ट आपको सीट से बांधे रखने में बेहद कारगर होता है। किसी भी दुर्घटना की स्थिति में यह आपको स्टेयरिंग या फिर डेशबोर्ड से टकराने नहीं देता। इसके अलावा यह झटका लगने पर भी आपको आगे की तरफ गिरने नहीं देता। अधिकतर हादसों में लोगों के सिर डेशबोर्ड में टकरा जाने की वजह से उनकी मौत होती है। इस तरह सीट बेल्ट कई तरह से आपका बचाव कर सकता है।

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.