website counter widget

फडणवीस, उद्धव से होते हुए अब सीएम का ताज़ पवार के पास

0

महाराष्ट्र (Maharashtra) का राजनीतिक संकट खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Elections) के परिणाम आए कई दिन हो गए हैं, इसके बावजूद सरकार बनाने के दावा अभी तक किसी भी पार्टी द्वारा नहीं किया गया है। प्रदेश का सियासी ताज पहले भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party ) के पास था, फिर शिवसेना (Shiv Sena) के पास और अब एनसीपी के पास पहुंच चुका है। शिवसेना को लग रहा था कि एनसीपी और कांग्रेस भी अपने विधायकों के समर्थन की चिट्ठी उसे सौंप देगी, लेकिन सोमवार तक ऐसा नहीं हो पाया, अब आज ये कयास लगाए जा रहे हैं कि एनसीपी (NCP) , शिवसेना और कांग्रेस (Congress) के साथ मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश कर सकती है, लेकिन इसके लिए अभी तक कांग्रेस की ओर से कोई संकेत नहीं दिया गया है।

महाराष्ट्र में लगा राष्ट्रपति शासन! सुप्रीम कोर्ट में शिवसेना!

सबसे बड़ा दल होने के नाते महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी (Maharashtra Governor Bhagat Singh Koshiyari ) ने सरकार बनाने का न्योता सबसे पहले भाजपा को दिया था, इसके बाद मौका शिवसेना को दिया गया और अब यह मौका एनसीपी के पास पहुंचा है। सरकार बनाने में विफल होने के बाद आज शिवसेना नेता संजय राउत (Shiv Sena leader Sanjay Raut ) ने हरिवंश राय बच्चन की कविता शेयर करते हुए लिखा, “कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती, हम होंगे कामयाब जरूर होंगे।” शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut ) को सीने में दर्द की शिकायत के बाद सोमवार को लीलावती अस्पताल (Lilavati Hospital ) में भर्ती कराया गया।

कौन होगा आयोध्या मंदिर का प्रधान पुजारी

अस्पताल से जुड़े अधिकारी ने बताया कि सीने में दर्द की शिकायत के बाद संजय राउत को लीलावती अस्पताल पहुंचाया गया। डॉ. जलील पारकर उनका उपचार कर रहे हैं।  राउत नियमित जांच के लिए दो दिन पहले भी अस्पताल आए थे। उस समय कुछ जांच के बाद ECG (इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम) किया गया था। ECG रिपोर्ट के आधार पर डॉक्टरों ने आगे जांच के लिए उन्हें अस्पताल आने को कहा था।

शिवसेना के साथ सरकार बनाने के लिए कांग्रेस की शर्त

         – Ranjita Pathare 

 

 

ट्रेंडिंग न्यूज़
[yottie id="3"]
Share.