Maharashtra Government Live Updates : सुप्रीम कोर्ट से फडणवीस सरकार को राहत

0

महाराष्ट्र में हुए विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Elections 2019 ) के बाद से  ही महाराष्ट्र (Maharashtra Government Live Updates ) की राजनीति की गुत्थी उलझी हुई है। सत्ता के लालच में शुरू हुआ यह राजनीतिक दंगल सुप्रीम कोर्ट तक पहुँच गया है। अब इस मामले पर सुप्रीम (Supreme Court Verdict on Maharashtra) फैसला लिया जाएगा। अदालत ने केंद्र सरकार से कहा कि वह भाजपा (BJP government in Maharashtra ) नेता द्वारा राज्य में सरकार बनाने के लिए किए गए दावे का पत्र भी अदालत के समक्ष सोमवार को सुबह साढ़े दस बजे सुनवाई के दौरान पेश करे। आज साढ़े दस बजे से  पूरे देश की निगाहे सुप्रीम कोर्ट की कार्रवाही पर होगी। कोर्ट का फैसला ही महाराष्ट्र की राजनीति का भविष्य तय करेगा।

आवासीय इलाके में प्लेन क्रैश, 26 लोगों की मौत

Maharashtra Government Live Updates :

11.56 AM : सुप्रीम कोर्ट से फडणवीस सरकार को राहत

सुप्रीम कोर्ट से फडणवीस सरकार को राहत मिली है। अदालत अब इस मामले में कल सुबह 10.30 बजे फैसला सुनाएगी।एक तरफ एनसीपी-कांग्रेस और शिवसेना की ओर से मांग की जा रही थी कि 24 घंटे के अंदर फ्लोर टेस्ट किया जाए।

11.50  AM : बीजेपी वकील ने रखा अपना पक्ष

बीजेपी के वकील मुकुल रोहतगी ने सुप्रीम कोर्ट में कहा है कि राज्यपाल ने फ्लोर टेस्ट के लिए 14 दिन का वक्त दिया है। प्रोटेम स्पीकर के बाद स्पीकर का चुनाव जरूरी है, लेकिन विपक्ष प्रोटेम स्पीकर से ही काम कराना चाहता है।  अगले सात दिन में फ्लोर टेस्ट नहीं हो सकता है, कल भी फ्लोर टेस्ट का ऑर्डर ना दिया जाए।

11.40  AM : एनसीपी की ओर से अभिषेक मनु सिंघवी की दलील

एनसीपी की ओर से अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि अगर दोनों पक्ष फ्लोर टेस्ट को तैयार हैं तो देरी क्यों हो रही है। उन्होंने कहा कि अगर कुछ छिपाया जा रहा है तो फर्जीवाड़ा हुआ है।  अजित पवार की चिट्ठी पूरी तरह से फर्जी है। अभिषेक मनु सिंघवी ने 48 एनसीपी, 56 शिवसेना और 44 कांग्रेस विधायकों का समर्थन पत्र सौंपने की बात कही। अदालत ने कहा कि  अगर आप ये दाखिल करेंगे तो मुझे उनसे जवाब लेना होगा, जिसके बाद अभिषेक मनु सिंघवी ने चिट्ठी वापस ले ली।

11.30  AM : कोर्ट में शुरू हुई तीखी बहस

सुप्रीम कोर्ट में तीखी बहस शुरू हो गई है। तुषार मेहता ने जहां पूरे अस्तबल के गायब होने का दावा किया था इसके बाद कपिल सिब्बल जवाब दे रहे हैं कि सिर्फ घुड़सवार ही भागा है, घोड़े वहां के वहां ही हैं। वहीं बीजेपी के वकील  मुकुल रोहतगी ने कहा कि विधायकों को होटल में बंद किया गया था, फैसला जल्दी होना चाहिए। अगर 24 घंटे या 48 घंटे में निर्देश दिया तो किसे देगा? सदन की व्यवस्था तो स्पीकर ही देखेंगे। इसके बाद कपिल सिब्बल ने कहा कि 22 की रात को प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई जिसमें कांग्रेस-एनसीपी और शिवसेना ने सरकार बनाने की बात कही। ऐसी कौन-सी इमरजेंसी थी कि सुबह सवा 5 बजे राष्ट्रपति शासन हटाया गया और शपथ दिलवा दी गई ? इमरजेंसी का खुलासा होना चाहिए ?

11.25  AM : अजित पवार की तरफ से मनिंदर सिंह ने रखा पक्ष

अजित पवार की तरफ से मनिंदर सिंह ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि मैं ही एनसीपी हूं और मैं ही नेता हूं। तुषार मेहता ने कहा कि राज्यपाल को ये भी देखना होगा कि कौन स्थाई सरकार देगा? अजित पवार के वकील ने कहा कि जो मैंने सूची दी है वो पूरी तरह से सही है। जैसे भी हो फैसला निकलना चाहिए, चाहे कोर्ट से निकले या फिर राज्यपाल से।

11.15  AM : अजित पवार की तरफ से कौन है?

SG कोर्ट में कहा कि बीजेपी के पास 105 अपने, एनसीपी 54 और 11 निर्दलीयों का समर्थन है। राज्यपाल के पास सभी विधायकों का  समर्थन पत्र पहुंचा था। मुकुल रोहतगी ने कहा कि पवार परिवार में क्या हो रहा है, इससे उन्हें मतलब नहीं है। एक पवार मेरे साथ है और एक कोर्ट में, वह हस्ताक्षर गलत नहीं बता रहे हैं, बल्कि होर्स ट्रेडिंग का आरोप लगा रहे हैं।इसके बाद कोर्ट ने कहा कि हम यहां पर राज्यपाल के बारे में कुछ नहीं कह रहे हैं, यहां मामला अलग है। वहीं  जस्टिस खन्ना ने इस दौरान कहा कि आप बीते कल की बात कर रहे हैं, यहां अजित पवार की तरफ से कोई है?

10.56 AM : संसद में हंगामा

महाराष्ट्र मुद्दे पर संसद परिसर में हंगामा शुरू हो गया है। प्रदर्शन में सोनिया गांधी और आनंद शर्मा समेत सभी सांसद  शामिल हैं।

कांग्रेस, एनसीपी, शिवसेना के नेताओं ने राजभवन पहुंचकर अधिकारियों को समर्थन पत्र सौंपा

 

10.50 AM : कोर्ट मे पढ़ा गया अजित पवार का पत्र

कोर्ट में एनसीपी के अजित पवार का पत्र सौंपा गया। बीजेपी के 105 विधायकों के अलावा अजित पवार ने 54 विधायकों का समर्थन पत्र सौंपा था, जिसमें अजित ने खुद को विधायक दल का नेता बताया

10.45 AM : विपक्ष ने सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया

सॉलिसिटर जनरल ने कोर्ट में कहा कि विपक्ष की ओर से अभी तक सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया गया, हमारे पास राज्यपाल के आदेश की कॉपी हैं।

10.40 AM : सॉलिसिटर जनरल ने रखा राज्यपाल का पत्र

सॉलिसिटर जनरल ने सुप्रीम कोर्ट में राज्यपाल का पत्र रखा। इसके बाद हिंदू महासभा की ओर से वकील ने कहा कि उन्होंने एनसीपी-कांग्रेस और शिवसेना के गठबंधन को चुनौती देने वाली याचिका दायर की है, जिसपर सुनवाई होनी चाहिए, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि ये मामला अभी अलग है। इसके बाद सॉलिसिटर जनरल ने कहा है कि क्या कोर्ट गवर्नर के फैसले को पलट सकती है। अब तुषार मेहता अदालत में दलील रख रहे हैं। बीजेपी और शिवसेना के गठबंधन की जानकारी राज्यपाल को थी। इसके अलावा बीजेपी और शिवसेना के हक में ही नतीजे थे। राज्यपाल के पास नतीजे थे, बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी थी और शिवसेना के पास 56 सीटें थी। राज्यपाल ने काफी दिन इंतजार किया, उसके बाद बीजेपी को सरकार बनाने के लिए बुलाया। बीजेपी ने सरकार बनाने से मना किया, फिर शिवसेना ने भी मना किया। और एनसीपी के साथ भी ऐसा ही हुआ।

बीजेपी से डरे कांग्रेस-NCP-शिवसेना के दिग्गज

10.35 AM : महाराष्ट्र मामले पर सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई शुरू

3 जजों की बेंच ने सुनवाई शुरू कर दी है। सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने सरकार बनाने से जुड़े दस्तावेज कोर्ट को सौंप दिए हैं।

10.34 AM : मंत्रालय पहुंचे सीएम फड़णवीस

10.27 AM : सुनवाई से पहले मुकुल रोहतगी का बड़ा बयान

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई से पहले मुकुल रोहतगी ने कहा है कि आज राज्यपाल का बयान रखा जाएगा। देवेंद्र फडणवीस, अजित पवार के पास जो विधायकों का समर्थन पत्र था उसे मैंने देखा है, राज्यपाल की ओर से सरकार बनाने का जो न्योता दिया गया वो सही है।

10.24 AM : कपिल सिब्बल पहुंचे कोर्ट

शिवसेना के वकील और अन्य नेता कोर्ट पहुँच रहे हैं ।

10.15 AM: सुप्रीम कोर्ट में कुछ देर में शुरू होगी सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट में महाराष्ट्र मामले पर सुनवाई शुरू होने वाली है। शिवसेना की तरफ से अनिल देसाई, गजानन कार्तिकर, अरविंद सावंत सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं।

SC पहुंची शिवसेना, कांग्रेस और NCP, फैसला कल

09.57 AM : NCP के साथ 53 विधायक

NCP नेता नवाब मलिक ने कहा है कि पार्टी 53 विधायक हमारे साथ हैं और अब हमारे पास कुल 165 विधायकों का समर्थन है।

09.50 AM : राज्यपाल को पत्र सौंपेगी तीनों पार्टियां

सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई से पहले ही शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस राज्यपाल को पत्र सौंप सकती है।

09.45 AM : अकेले पड़े अजित पवार

बीजेपी को समर्थन देकर अजित पवार मुसीबत में पड़ गए हैं। पहले उनका साथ देने वाले सभी विधायक अब एनसीपी में वापस लौट गए हैं।

09.05 AM : अजित पवार से मिलने पहुंचे एनसीपी नेता छगन भुजबल

9.00 AM : पी चिदंबरम से मिलने तिहाड़ जेल पहुंचे शशि थरूर और कार्ति चिदंबरम

08.30 AM : NCP के 54 में से 52 विधायक शरद पवार के साथ

08.15 AM : बीजेपी ने दिखाया जांच एजेंसी का डर

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court Verdict on Maharashtra) में महाराष्ट्र (Maharashtra Government Live Updates ) पर सोमवार को सुनवाई से पहले ही शिवसेना ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि वे एजेंसियों का डर बता रही है। ऐसे ही उन्होने सरकार बना ली, लेकिन वह विधानसभा में बहुमत साबित करने में असफल हो जाएगी।

08.00 AM : पूर्व सीएम यशवंतराव चव्हाण की पुण्यतिथि कार्यक्रम में पहुंचे एनसीपी प्रमुख शरद पवार

     – Ranjita Pathare 

Share.