शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस में कैसे हुआ मंत्रिमंडल का बंटवारा, जानिए

0

महाराष्ट्र (Maharashtra ) की राजनीति में आज से नए युग की शुरुआत होने वाली है। बाला साहब ठाकरे (Bala Saheb Thakre ) के परिवार से पहली बार कोई महाराष्ट्र का किंग बनने वाला है। आज यानि गुरुवार को शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री पद (Shiv Sena chief Uddhav Thackeray Chief Minister of Maharashtra ) की शपथ लेने वाली हैं। इसके बाद अब लोगों के मन में कई सवाल आ रहे हैं कि महाराष्ट्र का डिप्टी सीएम किस पार्टी का होगा, स्पीकर किस पार्टी का होगा और पार्टियों में मंत्रियों का बंटवारा किस प्रकार होगा।

कुमार विश्वास के नाम पर लाखों की ठगी करके शख्स फरार

सीटों का बंटवारा

सूत्रों के अनुसार, शिवसेना के खाते में सीएम पद के साथ ही 15 मंत्री भी जाने वाले हैं। वहीं एनसीपी को डिप्टी सीएम के साथ 14 मंत्री पद मिल रहे हैं। इसी के साथ कांग्रेस को स्पीकर का पद मिलने कि बात कही जा रही है। NCP नेता प्रफुल्ल पटेल (Praful Patel) ने पत्रकारों को बताया कि महाराष्ट्र में ‘महाराष्ट्र विकास अघाड़ी’ की सरकार बनने में अब कोई संदेह नहीं है। तीनों पार्टियों के वरिष्ठ नेताओं की बैठक में यह तय किया गया है कि महाराष्ट्र में एक ही डिप्टी सीएम होगा और वह एनसीपी का होगा।

NCP से बगावत के बाद भी अजित पवार फिर बने डिप्टी CM

भव्य होगा उद्धव ठाकरे का शपथ ग्रहण

उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के शपथ ग्रहण समारोह में कई बड़े –बड़े राजनेता शामिल होने वाले हैं। उद्धव ठाकरे के साथ 6 मंत्री भी शपथ लेने वाले हैं। सभी पार्टियों के दो-दो मंत्री शपथ ले सकते हैं। इसमें अजित पवार के फिर से डिप्टी सीएम बनने कि बात भी कही जा रही है। शपथ ग्रहान समारोह के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी जैसे कई बड़े-बड़े दिग्गजों को बुलाया गया है। कांग्रेस-एनसीपी और शिवसेना के सभी बड़े नेता कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं वहीं यह भी कहा जा रहा है कि उद्धव ठाकरे ने भाई राज ठाकरे को भी फोन करके न्योता दिया। शपथ ग्रहण समारोह के लिए शिवाजी पार्क और उसके आसपास सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। पुलिस अधिकारियों ने यह जानकारी दी। शिवसैनिकों का शिवाजी पार्क से इसीलिए भावनात्मक जुड़ाव रहा है क्योंकि  शिवाजी पार्क में ही बाल ठाकरे दशहरा रैली को संबोधित किया करते थे।

पीएम मोदी विदेश यात्राओं के दौरान होटल में रुकने की बजाय एयरपोर्ट पर ही रुकते हैं.

   – Ranjita Pathare 

 

Share.