फ्लोर टेस्ट में पास हुई शिवसेना सरकार मिला इतने विधायकों का समर्थन

0

शिवसेना फ्लोर टेस्ट (Shivsena floor test) से पहले महाराष्ट्र सीएमओ के ट्विटर हैंडल से पहला ट्वीट किया गया है. इसमें पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और महाराष्ट्र विकास अघाड़ी को धन्यवाद दिया गया है. बहुमत परीक्षण एकनाथ शिंदे के साथ गिनती की प्रक्रिया से शुरू हुआ है (Maharashtra Floor Test Live). नाम के साथ विधयकों ने अपना नंबर बताया और शिवसेना को कुल 169 विधायकों का समर्थन मिला कांग्रेस के अशोक चव्हाण ने बहुमत परीक्षण का प्रस्ताव पेश किया है. इस दौरान एनसीपी नेता नवाब मलिक (NCP leader Nawab Malik) और शिवसेना के सुनील प्रभु (Sunil Prabhu) ने इसपर सहमति जताई. इस दौरान विपक्ष की तरफ से जोरदार नारेबाजी की गई. प्रोटेम स्पीकर दिलीप वलसे (Protem Speaker Dileep Valse) ने कहा कि जो विश्वास प्रस्ताव के खिलाफ हैं वो बाईं ओर बैठ जाएं जो उसके अनुकूल हैं वो खड़े हो जाएं. जो सदन के सदस्य नहीं है वो खड़े होकर अनुमोदन नहीं कर सकते. लेकिन बहुमत परीक्षण से पहले विपक्ष ने नारेबाजी करते हुए सदन से वॉकआउट कर दिया

कांग्रेस एनसीपी में खींचतान के बाद अब ये होगा डिप्टी सीएम!


महाराष्ट्र में शिवसेना ने गठबंधन कि सरकार बना ली है और फ्लोर टेस्ट में पास भी हो गई है लेकिन बीजेपी ने अभी तक हार नहीं मानी है. बीजेपी ने विधानसभा में उद्धव ठाकरे के विश्वास प्रस्ताव रखने से पहले अपना अंतिम दाव चल दिया है (Maharashtra Floor Test Live). पार्टी ने प्रोटेम स्पीकर के मामले को राज्यपाल से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक में चुनौती देने का फैसला किया है. बीजेपी ने उद्धव सरकार को लेकर ये चार सवाल उठाए हैं:-

हैदराबाद में प्रियंका रेड्डी के बाद एक और महिला का जला हुआ शव मिला

1. ऐन वक्त पर प्रोटेम स्पीकर क्यों बदला गया?
2. विधानसभा की कार्यवाही शुरू होने से पहले राष्ट्रीय गीत क्यों नहीं बजाया गया?
3.BJP को फ्लोर टेस्ट के लिए 1 बजे का वक्त दिया गया था. जबकि, फ्लोर टेस्ट 2 बजे होना था. ऐसे में सभी विधायक वक्त पर नहीं पहुंचे. ऐसा क्यों?
4.मंत्रियों का शपथ ग्रहण असंवैधानिक है.

अजित पवार फिर मिले भाजपा से, महाराष्ट्र सियासत में हलचल

-Mradul tripathi

 

Share.